स्वतंत्र आवाज़
word map

हरीशजी के लइया चने पर मीडिया लट्टू!

मीडिया के मित्रों का स्नेह हमारी ताकत है-हरीशजी

भाजपा के मीडिया प्रमुख हरीशजी का साक्षात्कार

Tuesday 6 March 2018 02:44:05 PM

दिनेश शर्मा

दिनेश शर्मा

harishchandra shrivastav harishji

हरीशचंद्र श्रीवास्तव हरीशजी भारतीय जनता पार्टी में एक जाना-माना नाम है, जो उत्तर प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रमुख के पद पर आसीन हैं। हरीशजी के नाम से ज्यादा विख्यात हरीशचंद्र श्रीवास्तव हरीशजी एक सह्रदयी और मीडिया के प्रिय राजनेता हैं, जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी का संघर्ष और उत्तर प्रदेश में स्वर्णिम काल देखा है। हरीशजी जैसे भाजपा के संघर्ष के दौर में दिखते थे, आज भाजपा के स्वर्णिम दौर में भी वैसे ही सहज दिखते हैं, सत्ता का ग़रूर या ताकत का प्रदर्शन उनमें कहीं नहीं दिखता। कहना न होगा कि मीडिया रणनीति के लइया-चना चोखा-बाटी चाय अमरूद से ही उन्होंने मीडिया से सरकार और भाजपा संगठन की वो ख़बरें चलवा दी हैं, जिन्हें उत्तर प्रदेश सरकार का सूचना और जनसंपर्क विभाग लाखों या करोड़ों रुपये के विज्ञापन बांटकर भी नहीं चलवा सका या छपवा स‌का। मीडिया देखता आ रहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा और योगी सरकार के या फिर मोदी सरकार के कार्यक्रमों नीतियों एवं फैसलों का त्वरित प्रचार-प्रसार करने में उत्तर प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रमुख हरीशजी और उनकी छोटी सी टीम सरकार के सूचना और जनसंपर्क विभाग से बहुत आगे और परिणामजनक है।
भाजपा मुख्यालय लखनऊ में मीडिया प्रभाग की तरफ जाते ही भाजपा का शानदार मीडिया प्रबंधन देखने को मिलता है। भाजपा मुख्यालय पर मीडिया के लोगों का आदर-सत्कार और शिष्टाचार कोई आज की बात नहीं है, बल्कि यह तब भी वैसा ही दिखाई दिया है, जब उत्तर प्रदेश और केंद्र में भी भाजपा की सरकार नहीं थी। भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व भी यदाकदा यह समीक्षा करता रहा है या दिशा-निर्देश देता रहा है कि मीडिया से संवाद संबंधों शिष्टाचार में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहनी चाहिए और भाजपा मुख्यालय के मीडिया ने भी मीडिया से दोस्ताना संबंधों को निभाने में आजतक कोई कमी नहीं छोड़ी हुई है। मीडिया के लोग हरीशजी और उनकी टीम के कायल हैं और उनका सम्मान करते हैं, ऐसा सहृदयी वातावरण किसी और राजनीतिक दल में नहीं देखा गया है, तबभी नहीं जब वे उत्तर प्रदेश की सत्ता में रहे हैं। भाजपा मुख्यालय पर छोटे बड़े मीडियाकर्मी का भेद भी देखने को नहीं मिलता है, यही भाजपा के मीडिया प्रमुख का मीडिया प्रबंधन है। मीडिया से जब कभी मीडिया प्रबंधन पर चर्चा होती है तो हरीशजी अपनी मीडिया सफलताओं के लिए अपने नेतृत्व के मार्गदर्शन और आर्शीवाद का उल्लेख किया करते हैं।
हरीशचंद्र श्रीवास्तव हरीशजी को भारतीय जनता पार्टी में मीडिया प्रबंधन में रहते हुए एक लंबा अनुभव है, जिसका भाजपा नेतृत्व लाभ उठाता है। उन्होंने भाजपा के कई बड़े नेताओं के साथ मीडियावर्क किया है, कई बड़े कार्यक्रमों और पार्टी के विशेष अभियानों का कुशलतापूर्वक कवरेज किया है। हरीशजी के बारे में ये शब्द कोई प्रशंसा नहीं है, बल्कि यह एक सच्चाई है, जो साक्षात देखी और अनुभव की जा सकती है, यही कारण है कि भाजपा नेतृत्व हरीशजी की जिम्मेदारियों और कार्यक्षमता पर इतना भारी विश्वास करता है। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद भाजपा मुख्यालय और भाजपा संगठन, मंत्रियों एवं नेताओं की अपेक्षाएं एवं गतिविधियां अपने चरम पर हैं, ऐसे में मीडिया प्रबंधन के सामने और भी कड़ी चुनौती है, जिससे निपटने के लिए मीडिया प्रभाग चौबीस घंटे सक्रिय रहता है। हरीशजी की व्यस्तता पहले से ज्यादा है, तथापि वे मीडिया के लिए सहज उपलब्‍ध हैं। मैंने यह अनुभव किया है कि हरीशजी स्वयं राजनीति और मीडिया के बीच एक सेतु की तरह हैं और जिन्हें यह जानना हो तो हाथ कंगन को आरसी क्या है? उनके पास अनुभव है और उनसे सीखा जा सकता है। स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम को उन्होंने उनके कामकाज एवं विभिन्न मीडिया शिष्टाचारिक विषयों पर बातचीत का एक अवसर दिया, प्रस्तुत है बातचीत।
हरीशचंद्र श्रीवास्तव हरीशजी के पास उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी का मीडिया प्रमुख का जिम्मेदारी भरा पद है, हरीशजी आपको होली की बधाई, कैसी रही भाजपा की होली?
प्रचंड नेतृत्व और शानदार होली
रंगोत्सव हमारी सांस्कृतिक परंपराओं का अहम हिस्सा है, जब रंग और गुलाल खेलकर सभी एक-दूसरे के गले मिलते हैं और सारे जातियों से परे होकर और अपने मतभेदों को भुलाकर आपसी सौहार्द और प्रेम का संदेश प्रसारित करते हैं, हमारी यही संस्कृति है और हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी का सबका साथ-सबका विकास का संदेश आपस में बहुत मेल खाता है, होली अच्छी रही शानदार रही, हम पूर्वोत्तर राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड जीत का जश्न मना रहे हैं और उत्तर प्रदेश में दो लोकसभा उपचुनाव गोरखपुर और फूलपुर में शानदार जीत दर्ज करने जा रहे हैं, हमारे प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय और संगठन महामंत्री सुनील बंसल अपने कार्यकर्ताओं से होली भी खेल रहे हैं और अपने यहां उपचुनाव में विजय प्राप्त करने की तैयारी भी कर रहे हैं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा के बाकी नेताओं और कार्यकर्ताओं के पूर्वोत्तर की जनता में विश्वास एवं परिवर्तन की इच्छा के फलस्वरूप वहां तीनों राज्यों त्रिपुरा नागालैंड और मेघालय में कमल खिला है, हमने देश को पहले कांग्रेस मुक्त करने में सफलता पाई है और अब हमने वामदलों के किले भी ध्वस्त कर दिए हैं, पूरा देश भाजपा और होलीमय है, अब हम बाकी चुनावों की तैयारी और परिवर्तन में जुट गए हैं, क्योंकि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मंत्र सबको मालूम है कि बैठना नहीं है और अपने लक्ष्य पर काम करते जाना है, जो भारत को भाजपामय बनाना, भ्रष्टाचार मुक्त करना, सबका साथ-सबका विकास करना है, आपको भी और हमारे सभी मीडिया साथियों को भी उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय और संगठन महामंत्री सुनील बंसल एवं भाजपा के समस्त पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की ओर से होली ‌की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई, हम मीडिया के आभारी हैं, जिनका हमें सदैव से भरपूर सहयोग मिलता है।
उत्तर प्रदेश भाजपा शासित राज्य है और आप मीडिया प्रभारी हैं, मीडिया को क्या संदेश देना चाहेंगे?
मीडिया के लिए हमारी मंगलकामनाएं
मीडिया के सभी मित्रों और उनके परिवार के लिए मंगलकामनाएं करते हैं, हमारे नेतृत्व का संदेश है कि श्रेष्ठ भारत के लिए हम सभी मीडिया के मित्रों का सहयोग मांगते हैं कि श्रेष्ठ भारत के निर्माण में उनकी जो प्र्रतिभा है, वह उल्लेखनीय है और उनके पास जो विचार शक्ति है, जो सबसे बड़ी ताकत होती है, उस विचारशक्ति के माध्यम से हमारे नेतृत्व का जो संकल्प है श्रेष्ठ भारत के निर्माण का, सशक्त भारत के निर्माण के लक्ष्य को पूरा करने में अपना अहम योगदान दें।
हरीशजी उत्तर प्रदेश भाजपा शासित राज्य है, इस नाते आप मीडिया की इतनी बड़ी जिम्मेदारी का कैसे निर्वहन करते हैं, आपका क्या अनुभव है?
नेतृत्व का मार्गदर्शन और आर्शीवाद
देखिए दिनेशजी संगठन और जो हमारा नेतृत्व है, आदरणीय प्रदेश अध्यक्षजी, प्रदेश संगठन महामंत्रीजी का जो भी दिशा-निर्देश प्राप्त होता है, उस दिशा-निर्देश और उनके संरक्षण से मीडिया की जिम्मेदारी के निर्वहन का पूरा प्रयास करते हैं, जो संगठन के काम हैं और जो संगठन के संदेश हैं, वो मीडिया के मित्रों के माध्यम से जनमानस के पास पहुंचें, हमारे नेतृत्व का समाज में सकारात्मक संदेश देने का जो प्रयास है, उसे सकारात्मक और रचनात्मक विकास की दिशा मिले और मैं इस बात से अत्यंत खुश और संतुष्ट हूं कि हमें इस दिशा में मीडिया का सतत सहयोग मिल रहा है, नेतृत्व के मार्गदर्शन और आर्शीवाद से यह सब संभव हो रहा है।
आप अपने सामाजिक और राजनीतिक जीवन में यूं तो पहले से ही मीडिया से संपर्क में हैं, किंतु इस प्रकार पूर्णरूप से आप कब से मीडिया से जुड़े हैं, जो यहां तक पहुंचे?
नेतृत्व और मीडिया का लंबा साथ
मैं केंद्रीय संगठन
के साथ पंचायत प्रकोष्ठ की जिम्मेदारी देख रहा था और उस समय आदरणीय मुख्तार अब्बास नक़वी भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री थे एवं मीडिया देखते थे, आदरणीय प्रकाश जावड़ेकरजी जो इस समय मानव संसाधन विकास मंत्री हैं वो उस समय भाजपा के प्रवक्ता थे, उन्होंने मुझे मीडिया में काम करने के लिए कहा और आदरणीय नक़वीजी से इस प्रस्ताव की मंजूरी दिलाई और इस प्रकार उनके मार्गदर्शन में प्रकाश जावड़ेकरजी के साथ केंद्रीय मीडिया में काम किया, फिर माननीय आडवाणीजी की भारत उदय यात्रा के दौरान मीडिया देखता रहा, उसके बाद उत्तर प्रदेश में राजनाथजी की न्याय यात्रा थी, उसका भी मीडिया प्रभारी का दायित्व मेरा रहा, फिर राष्ट्रीय स्तर पर जो भारत सुरक्षा यात्रा थी, उसमें भी मैं उत्तर प्रदेश का मीडिया प्रभारी रहा, इसी क्रम में जब सूर्यप्रताप शाहीजी उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष हुए तो उन्होंने मुझे मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी दी, उसके बाद श्रीलक्ष्मीकांत वाजपेयीजी के समय में मुझे प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी दी गई, फिर केशव प्रसाद मौर्यजी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष हुए तो उनकी टीम में मुझे उत्तर प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी मिली, उनके कार्यकाल में उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव था, उस समय हमारा राष्ट्रीय नेतृत्व जनमत को परिवर्तन के लिए तैयार कर रहा था, परिवर्तन यात्राएं चल रही थीं, जिनके संदेश सम्यक रूपसे मीडिया तक पहुंचाना बड़ा चुनौतीपूर्ण काम था, जो नेतृत्व के मार्गदर्शन एवं मीडिया के सहयोग से सफलतापूर्वक पूर्ण किया जा सका और इस चुनाव में भाजपा को प्रचंड सफलता मिली, केशवजी के उपमुख्यमंत्री बन जाने के बाद आदरणीय महेंद्रनाथ पांडेयजी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष हुए और मुझपर मीडिया की जिम्मेदारी यथावत रखी गई है, मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि इस पद पर मुझे भाजपा के महान और सहयोगी सहृदयी नेताओं का विश्वास प्राप्त हुआ है और मैं इस गरिमामय पदपर रहकर संगठन और मीडिया मित्रों का सहयोग प्राप्त कर रहा हूं।
हरीशजी आप उत्तर प्रदेश के एक ऐसे स्‍‌वर्णिम दौर के साक्षी हैं, जब उत्तर प्रदेश में प्रचंड बहुमत के साथ भाजपा सत्तारूढ़ है, यह भाजपा के लिए एक उत्सव और चुनौती का भी दौर है, ऐसे में मीडिया से विश्वासपूर्वक समन्वय एक बड़ी चुनौती है...
मीडिया के मित्रों का सहयोग अहम
जी बिल्कुल देखिए मुझे यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी और हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाहजी का क्रांतिकारी और करिश्माई नेतृत्व है और उनके नेतृत्व में आज भारत जिस प्रकार गतिमान है, दुनिया के अग्रिम पंक्ति के राष्ट्र आज भारत की तरफ देख रहे हैं और पूरा देश विकास और उन्नति के पथ पर उसी रूपमें अग्रसर हो यह हमारे नेतृत्व का संकल्प है, इसके लिए माननीय प्रधानमंत्रीजी के और राष्ट्रीय अध्यक्षजी के नेतृत्व में सरकार और संगठन दोनों लगातार प्रयत्नशील हैं, यह अवश्य है कि मीडिया के लोगों के साथ काम करते हुए अनेक अनुभव प्राप्त हुए हैं, जिस तरह से संगठन ने अपनी योजनाओं से पार्टी को गांव तक बूथ तक पहुंचाया, किसानों, युवाओं और महिलाओं के बीच में संगठन ने अनेक कार्यक्रम किए, पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्मशताब्दी वर्ष था, उसमें जिस तरह से युगांतकारी कार्यक्रम हुए और भी कार्यक्रम हुए, पर्यावरण के कार्यक्रम हुए, वे मीडिया तक पहुंच जाएं, यही मेरी जिम्मेदारी रही है, मैं इस कार्य को नेतृत्व के मार्गदर्शन से सफलतापूर्वक कर पाया, वास्तव में मीडिया के मित्रों का सहयोग बहुत अहम है।
दो हजार उन्नीस का लोकसभा चुनाव अगले साल शुरू होने वाला है, आपको उत्तर प्रदेश के मीडिया प्रमुख होने के नाते नेतृत्व से काम करने की कोई विशेष कार्ययोजना मिली है यानी कोई नए दिशा-निर्देश हैं?
हम टीम भावना के धनी
देखिए दिनेशजी समय-समय पर नेतृत्व का मार्गदर्शन और दिशा-निर्देश मिलते रहते हैं, जो कार्यक्रम पार्टी के होते हैं, उनके बारे में जानकारी मिलती रहती है, निश्चित रूपसे दो हजार उन्नीस का लोकसभा चुनाव अहम चुनाव होगा और हमपर मीडिया की सबसे बड़ी और अहम जिम्मेदारी है, हम टीम भावना के धनी हैं, पूरी टीम के साथ जिसपर हम काम कर रहे ह‌ैं, हमारी टीम के तीन साथी हैं, सह मीडिया प्रभारी आलोक अवस्‍थीजी हैं, हिमांशु दूबेजी, समीर सिंहजी, इसी तरह मीडिया संपर्क विभाग है, जिसमें मनीष दीक्षितजी, डॉ तरुणकांतजी, नवीन श्रीवास्तवजी और प्रवक्ताओं की टीम है, ये सब सामूहिक रूपसे जो पार्टी का संदेश है, योजनाएं हैं, राज्य और केंद्र सरकार के कार्यक्रम हैं, उनको जन-जन तक ले जाने के लिए मीडिया तक पहुंचाना है, जो चाहे इलेक्ट्रॉनिक चैनल हों, प्रिंट मीडिया हो, ऑनलाइन मीडिया हो, ये प्रयास रहता है कि सुचारू रूपसे तथ्यगत रूपसे सरकार और संगठन के काम जन-जन तक पहुंचें, ताकि श्रेष्ठ भारत एक भारत बनाने का जो हमारे नेतृत्व का संकल्प साकार हो सके।
हरीशजी आप एक सहृदयी माडिया प्रमुख हैं और यह भी कि आपके पास मीडिया का एक बड़ा अनुभव है, आमतौर पर कहा जाता है कि पहले के मुकाबले आज मी‌डिया बहुत महत्वाकांक्षी हो गया है, मीडिया में पहले में और आज में आप किस प्रकार के बदलाव देख रहे हैं?
कंटेंट ही मीडिया की बड़ी ताकत
देखिए कंटेंट ही मीडिया की सबसे बड़ी ताकत है, यह टेक्नोलॉजी का युग है और सूचना का माध्यम बहुत फास्ट हो गया है, पहले दूरदर्शन और आकाशवाणी पर ख़बरें आती थीं, अब टीवी चैनलों और तीसरी मीडिया क्रांति के रूपमें समाचार पोर्टल एवं सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्वीटर, लिंक्‍डिन, इंस्टाग्राम जैसे माध्यमों से ख़बरें और विचार सबके सामने आते हैं, यह त्वरित सूचनाओं का युग है, इन त्वरित सूचनाओं के फायदे भी हैं और कुछ नुकसान भी हैं, मेरा अपना मानना है कि इन सबके बीच मीडिया प्रबंधन का काम ही है सबके साथ समन्वय करना, सबके साथ तालमेल रखना और अपने संवाद और सूचनाओं को सही स्‍थान तक पहुंचाना, मीडिया में भी बदलाव एक सतत् प्रक्रिया है, यह सही है कि युग के साथ सभी चीजें बदलती हैं, आज मीडिया के सामने यह चुनौती है कि वह सही कंटेंट को प्रस्तुत करे, इसके लिए इतना ज्ञान अर्जित करे, जिसे चुनौती न दी जा सके, हर मीडियाकर्मी की अपने संस्‍थान और अपने पेशे में आगे बढ़ने और नाम कमाने की तमन्ना होती है और इसमें पेशेवर ईमानदारी किसी का रास्ता नहीं रोक सकती, मेरी शुभकामनाएं हर उस मीडिया वाले के लिए हैं, जो एक ईमानदार पेशेवर एवं तथ्यों का सम्मान करता है और समाज एवं पेशेवर पत्रकारिता के लिए सीखता रहता है, इसमें यह ध्यान रखना आवश्यक है कि मीडिया कंटेंट को पढ़कर बच्चे अपनी कैरियर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियां करते हैं, उन्हें विश्वास होता है कि उनसे उन्हें दिशा मिलती है, उनके लिखे सामाजिक राजनीतिक एवं आर्थिक समाचारों एवं विश्लेषणों से लोग अपने को जागरुक करते हैं।
हरीशजी आपका अनुभव, जिसमें आपको अचानक मीडिया प्रबंधन का कार्य सौंपा गया हो, जिसको करना आसान नहीं था और आपको उसमें वि‌भिन्न प्रकार के सफलतापूर्वक अनुभव हुए...
तालमेल और सहयोग से राहें आसान
तालमेल और सहयोग
से राहें आसान होती हैं, देखिए जब 2017 का चुनाव चल रहा था तो मैंने देखा कि जापान और अनेक देशों से आए पत्रकार आश्चर्यचकित थे कि किस तरह से पार्टी नेतृत्व के पंद्रह-पंद्रह सोलह-सोलह कार्यक्रम एक साथ चल रहे हैं, पिछड़ावर्ग सम्मेलन चल रहे हैं, महिला स‌शक्तिकरण, किसानों के कल्याण, युवाओं को संगठित रखने और उनकी ऊर्जा के सही प्रयोग के कार्यक्रम, खिलाड़ियों के कार्यक्रम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के कार्यक्रमों को जन-जन तक पहुंचाना, सांस्कृतिक और सामाजिक क्षेत्र के लोगों के लिए अलग कार्यक्रम चल रहे हैं, विकास योजनाओं के अलग कार्यक्रम हैं, अनेक कार्यों एवं कार्यक्रमों को किस तरह एक साथ चलाया जा रहा है, इससे पत्रकार काफी आश्चर्यचकित और जिज्ञासू थे, उनके लिए यह शोध का भी विषय था, क्योंकि इतने बड़े राजनीतिक संगठन को नई स्थितियों के साथ तालमेल स्थापित करना है और मीडिया प्रबंधन को उसका कवरेज देना है, भारत में ये चीजें दूसरे देशों के लिए आकर्षण पैदा करती हैं, जैसे हमारे देश की निर्वाचन प्रणाली को दुनिया स्वीकार कर रही है, हमारे यहां की न्याय व्यवस्‍था को गंभीरता से आत्मसात किया जाता है, हमसे दूसरे देशों के पत्रकार जिज्ञासाभरे प्रश्न करते हैं और कहते हैं कि भाजपा में मीडिया प्रबंधन मायने रखता है, कई ऐसे अवसर आए, जब हमारी टीम को एकसाथ कई महत्वपूर्ण कार्यक्रमों का चुनौतीभरा कवरेज प्रबंधन करना पड़ा, जैसे चार प्रमुख परिवर्तन यात्राएं चल रही हैं, चारों का प्रमुखत से कंटेंट कवरेज करना एवं मीडिया से उनपर तुरंत समन्वय करना, हम लोगों ने अपने नेतृत्व के मार्गदर्शन से उसे अंजाम दिया, हमने संगठन की गांवों में बैठकों से लेकर चाय पर किसानों से चर्चा और गांवों में चौपाल पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के मन की बात कार्यक्रम कवर किए हैं, जिसकी हमें हमारी टीम को प्रशंसा भी मिली।
मीडिया के लोगों का कहना हुआ करता है कि हरीशजी ने भाजपा के लिए मीडिया को लइया चना चोखा बाटी अमरूद खिलाकर ऐसी ख़बरें लिखा दी हैं, जो बड़े-बड़े विज्ञापन देकर भी संभव नहीं हैं, यह आपकी कौन सी रणनीति है...
टीम भावना से काम
(जोर से हंसते हुए)
मैं तो ये कहूंगा कि ये मेरे लिए यह मीडिया के मित्रों का स्नेह है, जो हमारी ताकत है, हमारी जो मीडिया की टीम है, जो मीडिया के साथी हैं, हमारे सहमीडिया प्रभारी, हमारे संपर्क प्रमुख हैं, इनका एक सम्यक प्रयास है, एक टीम भावना से काम करना है और जितने भी पत्रकार मित्र हैं, चाहे वो किसी भी चैनल, प्रिंट ऑनलाइन से हों या स्वतंत्र पत्रकार हों सबका प्रेम स्नेह इस संगठन के साथ है, इसी कारण हम उनका सहयोग प्राप्त कर सके हैं।
भाजपा के मीडिया प्रमुख होने के नाते उत्तर प्रदेश में भाजपा की योगी सरकार के कामकाज पर आपकी क्या राय है, उनकी क्या योजनाएं हैं, जिनपर आपका फोकस है?
योगीजी के काम पर फोकस
हमारा
सबसे बड़ा फोकस यह है कि आदरणीय योगीजी की सरकार ने भाजपा के लोककल्याण संकल्पपत्र के माध्यम से जनता से जो वादा किया था कि हम सुशासन देंगे, हम उत्तर प्रदेश राज्य को भ्रष्टाचारमुक्त व्यवस्‍था देंगे, हम उत्तर प्रदेश को पारदर्शी व्यवस्‍था देंगे, हम उत्तर प्रदेश में कानून का राज लागू करेंगे, उसके अनुसार इन सभी सेक्टर चाहे वो कानून का राज वापस लाने की बात हो, ‌किसानों को ऋणमुक्त करना रहा हो, सुशासन की बात रही हो, इन सबपर सरकार ने बहुत तेजी से काम करके सफलता प्राप्त की है, ई-टेंडर एक बहुत बड़ी भ्रष्टाचारमुक्त व्यवस्‍था है, पहलीबार हुआ कि ट्रांस्फर इंडस्ट्री नहीं बनी, खनन माफियाओं का सफाया किया गया, खनन का राजस्व आम आदमी के विकास के लिए लगाया गया, ये अनेक कार्यक्रम एक साल के अंदर सरकार ने करके दिखाए, इंवेस्टर समिट जो हुई, उसमें सरकार को बहुत सफलता मिली, वह अपने आपमें अद्भुत है, अद्वितीय है, ये हमारा भरोसा है, जो 2017 में जनता ने दिया था, उसको आदरणीय योगीजी की सरकार पूरा करने में लगी है।
आपके मीडिया प्रबंधन के सा‌थियों और प्रवक्ताओं का भी एक प्रशिक्षित काडर है, अक्सर उनसे बातचीत में यह महसूस भी होता है, क्योंकि आपका मीडिया इंट्रैक्‍शन औरों से अलग प्रभावित करता है...
भाजपा का प्रशिक्षित मीडिया काडर
दिनेशजी हमारे यहां संगठन का ढांचा है, उसमें प्रशिक्षण एक अहम हिस्सा है और समय-समय पर राष्ट्रीय स्तर पर आंतरिक मीडिया की कार्यशालाएं होती हैं, जिसमें मीडिया प्रभाग से जुड़े प्रवक्ता और नेतृत्व के लोग शामिल होते हैं, उनका मार्गदर्शन प्राप्त होता है, इंपुट प्राप्त होता है और इसी तरह प्रदेश में भी कार्यशालाएं होती हैं, समन्वय पर चर्चाएं होती हैं सहयोगी भी अपने अनुभव और समस्याएं रखते हैं, जिनपर प्रदेश अध्यक्ष माननीय महेंद्रनाथ पांडेयजी का, संगठन महामंत्री सुनील बंसल से मार्गदर्शन और सहयोग मिलता है, वे अपने संबोधनों में प्रेरणाएं देते हैं और आशा करते हैं कि संगठन का मीडिया के साथ सुंदर समन्वय बना रहे एवं सरकार के कार्यक्रम आम जनता तक पहुंचते रहें, आखिर मीडिया काम इस प्रकार से जनता में संगठन और सरकार की छवि स्‍थापित करना है।
मीडिया से आप और क्या आशा करते हैं?
मीडिया से आशा
मीडिया
से मैं यही आशा करता हूं कि जो हमारे संगठन और नेतृत्व का संकल्प है, नए भारत के निर्माण, सबका साथ-सबका विकास, सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन को सकारात्मक रूपसे जन-जन तक पहुंचाने में सरकार और संगठन की सहायता करता रहे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]