स्वतंत्र आवाज़
word map

गोरखा राइफल्स का द्विशताब्दी समारोह

गोरखा सैनिकों और वीर नारियों ने समारोह में भाग लिया

शानदार परेड के साथ वीर नारियों का भी सम्मान किया गया

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Friday 10 November 2017 11:09:23 PM

gurkha rifles bi-biological festival in kashi

वाराणसी। भारतीय थल सेना की सबसे पुरानी रेजिमेंटों में से एक एवं उच्च वीरता पदकों से अलंकृत रेजिमेंट है नवीं गोरखा राइफल्स। इस रेजिमेंट की स्थापना के 200 वर्ष पूरा होने पर द्विशताब्दी समारोह का आयोजन 8 से 11 नवंबर 2017 तक वाराणसी छावनी 39 गोरखा ट्रेनिंग सेंटर में किया गया। इस उपलक्ष्य में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिनमें बड़ी संख्या में सेवारत एवं सेवानिवृत सैन्यधिकारियों, वीर नारियों ने भाग लिया। समारोह में यूके से आये भूतपूर्व ब्रिटिश गोरखा ऑफीसर्स के परिवारों के 12 सदस्यों ने भी भाग लिया। इस अवसर पर शानदार परेड हुई और वीर नारियों को सम्मानित किया गया।
गोरखा समारोह के दौरान आयोजित कार्यक्रमों में थल सेनाध्यक्ष एवं गोरखा ब्रिगेड अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत तथा सेना पत्नी कल्याण संघ की अध्यक्ष मधुलिका रावत मौजूद थीं। समारोह में बड़ी संख्या में सेवारत एवं सेवानिवृत वरिष्ठ सैन्यधिकारियों, नेपाल के दूरदराज़ से आए 500 से अधिक भूतपूर्व सैनिकों एवं उनके परिवारों ने भाग लिया। इस दौरान जनरल बिपिन रावत भूतपूर्व सैनिकों से रूबरू हुए। जनरल रावत ने युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण कर जाबांज शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। तदोपरांत जनरल रावत ने स्‍थापना समारोह के उपलक्ष्य में प्रथम दिवस आवरण का विमोचन भी किया। समारोह में साहसिक व हैरतअंगेज़ मोटरसाइकिल प्रदर्शन, कॉम्बैट फ्री फॉल, पैरामोटर फ्लाइट एवं बैंड डिस्प्ले का आयोजन किया गया।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]