स्वतंत्र आवाज़
word map

लखनऊ में आशा बहनों का मातृत्व सेवा सम्मान

महिलाएं चुनौतियों का डटकर सामना करें-मीनाक्षी लेखी

पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी कार्यक्रम

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Monday 4 September 2017 03:18:40 AM

mother's service honor of asha sisters in lucknow

लखनऊ। भाजपा महिला मोर्चा ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी पर मुन्नूलाल धर्मशाला में मातृत्व सेवा सम्मान समारोह में आशा बहनों और स्वयं सहायता समूहों का अभिनंदन किया, जिसमें भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता और दिल्ली की सांसद मीनाक्षी लेखी मुख्य अतिथि के रूप में पधारीं। उन्होंने आशा बहनों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं की महिलाओं को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया। इस मौके पर मीनाक्षी लेखी ने कहा कि भारतीय समाज में महिलाओं की अवस्था में काफी सुधार हुआ है, लेकिन महिलाओं को और ज्यादा सशक्त बनाने के लिए अभी बहुत कुछ करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अभी भी देश की आधी आबादी अनेक बुनियादी अधिकारों से वंचित है, आज हर क्षेत्र में पुरुष के साथ महिलाएं भी तमाम चुनौतियों का डटकर सामना कर रही हैं।
मीनाक्षी लेखी ने कहा कि हमारी नारीशक्ति ऐसी अवस्था में है, जिसमें महिलाओं को सशक्त बनाना आसान नहीं है, फिर भी महिलाओं को अपने समग्र विकास के लिए हर तरह से प्रयास करना होगा, उन्हें एकजुट होकर जाति-धर्म से ऊपर उठकर अपने उत्‍थान के संघर्ष पर जीत हासिल करनी होगी। उन्होंने कहा कि महिलाओं को अपनी खुद की शक्तियों को पहचानना होगा और आगे बढ़ना होगा, तभी सही मायने में महिला सशक्तिकरण का चिंतन साकार होगा और एक नए भारत एवं स्वस्थ संतुलित समाज का निर्माण होगा। कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार में स्वतंत्र प्रभार मंत्री स्वाति सिंह, प्रदेश संयोजक नीलिमा कटियार और प्रदेश प्रभारी अल्का मिश्रा भी उपस्थित थीं।
स्वाति सिंह ने आशा बहनों के कार्यों की सराहना करते हुए ‌कहा कि वे उन क्षेत्रों में काम करती हैं, जहां सुविधाओं का अभाव है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को सशक्त करने के उद्देश्य से इस सम्मान समारोह का आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं और उनकी बेटियों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं आरंभ की हैं, जिसकी वजह से आज लगभग हर महिला चाहती है कि उसके घर में बेटी पैदा हो। नीलिमा कटियार ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय का सिद्धांत सेवा पर आधारित है, आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक हर क्षेत्र में आवश्यकता की पूर्ति के लिए सेवा ही उनका सिद्धांत था। उन्होंने कहा कि ग़रीब महिलाओं के लिए सेवाक्षेत्र में रीढ़ की तरह काम करने वाली आशा बहनें और वे महिलाएं, जो स्वयंसेवा संस्था के माध्यम से ग़रीब महिलाओं के कल्याण के लिए कार्य कर रही हैं, सराहनीय हैं।
मातृत्व सेवा सम्मान समारोह में नगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा, रागिनी रस्तोगी, सुनीता बंसल, कल्पना तिवारी, संतोष तेवातियां, अर्चना मिश्रा, कृतिका अग्रवाल, अनीता सिंह, मधुबाला त्रिपाठी, सीता नेगी, विजय लक्ष्मी पांडेय, अर्चना साहू, नीलम बाला प्रजापति, सुमन शुक्ला, सीमा सिंह, निशा सिंह, रीना गुप्ता, करूणा सरास्वत, मंजू सिंह, अंजनी श्रीवास्तव, रमा यादव, खुर्शीद, पुष्कार शुक्ला, राज लक्ष्मी आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय है। गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी महिला सशक्तिकरण के लिए बड़े पैमाने पर कस्बों और नगरों में ऐसे कार्यक्रम आयोजित कर रही है। भाजपा शासित राज्यों में महिला मंत्रियों, सांसदों, विधायकों और भाजपा पदाधिकारियों को यह जिम्मेदारी दी गई है कि वे महिलाओं के बीच जाकर उनमें जातिधर्म से ऊपर उठकर जागरुकता पैदा करें।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]