स्वतंत्र आवाज़
word map

आतंकवाद पर वैश्विक सहयोग जरूरी-नायडू

'बेल्जियम के शिक्षकों का भारतीय भाषाओं पर प्रशंसनीय कार्य'

उपराष्ट्रपति और बेल्जियम के राजा फिलिप में हुआ विचार-विमर्श

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Wednesday 8 November 2017 05:21:17 AM

vice president m. venkaiah naidu and the king philippe of belgium

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि आतंकवाद एक वैश्विक चिंता है, जो वैश्विक ध्यान की मांग करती है और इसे वैश्विक सहयोग की आवश्यकता है। उपराष्ट्रपति नई दिल्ली में बेल्जियम के राजा फिलिप के साथ बातचीत कर रहे थे। इस अवसर पर दोनों पक्षों के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। उपराष्‍ट्रपति ने विश्‍व में बढ़ती आतंकवाद की समस्‍या पर राजा फिलिप का ध्‍यान आकर्षित किया, जिसपर बेल्जियम के राजा ने सहमति व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि आतंकवाद पूरे विश्‍व के लिए एक बड़ी चुनौती बन रहा है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत संयुक्‍तराष्‍ट्र संघ में अंतर्राष्‍ट्रीय आतंकवाद पर शीघ्र एक समझौता करने और उसका व्‍यापक रूपसे पालन करने में विश्‍वास करता है, इस संदर्भ में बेल्जियम के राजा ने भारत के विचार का समर्थन किया।
उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि भारत और बेल्जियम दोनों ही महत्‍वपूर्ण लोकतांत्रिक देश हैं और उनके कई आदर्श और सिद्धांत एक जैसे हैं। उन्‍होंने कहा कि दोनों देशों में लोकतंत्र, कानून का शासन, भाषण की आजादी, स्‍वतंत्र न्‍यायपालिका, स्‍वतंत्र प्रेस और मानवाधिकारों का संरक्षण मौलिक मूल्‍य हैं, जिनके माध्‍यम से हमारे समाज एक जैसे हैं। वेंकैया नायडू ने कहा कि बेल्जियम के शिक्षाविदों ने भारत और बेल्जियम में भारतीय भाषाओं विशेषत: हिंदी और संस्‍कृत के व्‍यापक अध्‍ययन में महत्‍वपूर्ण योगदान किया है। उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि प्रथम विश्‍वयुद्ध में 1,30,000 से अधिक भारतीय सैनिकों ने बेल्जियम की रणभूमि में युद्ध किया और 9000 से अधिक सैनिकों ने सर्वोच्‍च बलिदान दिया। उन्‍होंने बेल्जियम के राजा द्वारा प्रथम विश्‍व युद्ध में भारतीय सैनिकों के योगदान पर एक प्रदर्शनी के उद्घाटन और कॉफी टेबल पुस्‍तक ‘इंडिया इन फ्लैंडर्स फील्‍ड्स’ जारी करने पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की।
वेंकैया नायडू ने कहा कि यह भारतीय सैनिकों की वीरता और बलिदान के प्रति वास्‍तविक श्रद्धांजलि है। उन्‍होंने कहा कि आज भारत बेल्जियम के व्‍यापार के लिए एक आकर्षक व्‍यापारिक स्‍थल है, जो भारतीय स्‍टार्टअप कंपनियों के साथ बेल्जियम के लघु और मध्‍यम उपक्रमों के साथ संबंध बनाने में प्रोत्‍साहित करेगा। उन्‍होंने कहा कि भारत की 100 स्‍मार्ट सिटी पहल का उद्देश्‍य शहरी केंद्रों की आर्थिक क्षमता का दोहन करना है। उन्‍होंने कहा कि शहरी परिवहन व्‍यवस्‍था, दक्ष प्रौद्योगिकी, स्मार्ट सिटी सेवाओं, स्‍वच्‍छता और अपशिष्‍ट प्रबंधन में विशेषज्ञता वाली बेल्जियम कंपनियों को भारत में कई व्‍यापारिक अवसर प्राप्‍त होंगे। 

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]