स्वतंत्र आवाज़
word map

आंध्र प्रदेश ने देश को दिए दूरदर्शी नेता-कोविद

भीमराव अंबेडकर कौशल विकास अकादमी की रखी नींव

राष्ट्रपति का आंध्र में नागरिक अभिनंदन समारोह

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Saturday 2 September 2017 02:40:21 AM

ram nath kovind at a civic reception and public meeting

हैदराबाद। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविद ने एसवी आर्ट्स कॉलेज परिसर में उनके सम्‍मान में दिए गए नागरिक अभिनंदन समारोह में जनसमुदाय को भी संबोधित किया। उन्होंने आंध्र प्रदेश के इतिहास और यहां के विशिष्‍ट व्‍यक्तियों को गौरवशाली बताते हुए कहा कि यहां की धरती महान अग्रणी लोगों की धरती है और यहां की उप‍लब्धियां भी विशिष्‍ट हैं। उन्होंने कहा कि आंध्र केसरी के उपनाम से जाने-जाने वाले टी प्रकाशन का देश में अनुकरणीय योगदान है। उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश भाग्‍यशाली है, जिसने देश को दो दूरदर्शी राजनीतिक नेता दिए हैं, जिनमें मुख्‍यमंत्री एनटी रामाराव और भारत के प्रधानमंत्री रहे पीवी नरसिंहा राव अग्रणी नेताओं में रहे हैं।
राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविद ने कहा कि आंध्र प्रदेश की सामाजिक और आर्थिक उपलब्धियां भारत के बदलते स्‍वरूप का प्रतीक रही हैं। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे हम आगे बढ़ रहे हैं, हमें यह आश्‍वस्त करना होगा कि उन्‍नति की यह यात्रा हम सबकी है, केवल कुछ लोगों की नहीं है। राष्‍ट्रपति ने तिरूपति में बनाई जाने वाली भीमराव अंबेडकर कौशल विकास अकादमी की आधारशिला रखी। यह प्रशिक्षण अकादमी आधुनिक तकनीक से लैस होगी। विश्‍वस्‍तरीय रोज़गार प्रदान करने वाले इस केंद्र में हाशिए पर समुदायों के युवाओं को रखा जाएगा। इस अकादमी में इन युवाओं को कौशल विकास में प्रशिक्षित किया जाएगा और इससे इन्‍हें सरकारी और निजी क्षेत्र में रोज़गार प्राप्‍त करने में मदद मिलेगी। उन्होंने स्‍टैंडअप इंडिया पहल के लाभार्थियों को स्‍वीकृति पत्र प्रदान किए। राष्‍ट्रपति ने कहा कि स्‍टैंडअप इंडिया एक महत्‍वपूर्ण पहल है, क्‍योंकि यह गरीबों को रोज़गार प्रदाता बनाती है। उन्‍होंने कहा कि उद्यमशीलता आंध्र प्रदेश के समाज के खून में है।
राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविद ने आंध्र प्रदेश अनुसूचित जाति कोआपरेटिव वित्‍त निगम के लिए भूमि खरीद योजना का भी शुभारंभ किया और कहा कि आंध्र प्रदेश अनुसूचित जाति कोआपरेटिव वित्‍त निगम की भूमि खरीद योजना पारंपरिकतौर पर हाशिए के समुदायों की महिलाओं को कृषि योग्‍य भूमि प्रदान करती है, इससे भूमि के रूपमें उनके पास आर्थिक संपदा रहेगी, जिससे वे सामाजिक दृष्टि से तो सशक्‍त होंगी ही परिवार में भी उनका स‍शक्तिकरण स्‍थापित होगा। इससे पहले राष्‍ट्रपति ने श्रीवैंकटेश्‍वर मेडिकल साइंस संस्‍थान का दौरा किया। इस अवसर पर आंध्र प्रदेश के राज्‍यपाल ईएसएल नरसिम्‍हन एवं आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और गणमान्‍य नागरिक भी उपस्थित थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]