स्वतंत्र आवाज़
word map

एनसीईआरटी पुस्तकों के लिए पोर्टल शुरु

स्कूल ऑर्डर देकर मंगा सकते हैं पाठ्य पुस्तकें

और लोग भी पाठ्य पुस्तकें खरीद सकेंगे

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Thursday 10 August 2017 01:36:46 AM

online portal for dissemination of ncert textbooks

नई दिल्ली। भारत सरकार में मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाह ने स्कूलों और लोगों के लिए एनसीईआरटी की पाठ्य पुस्तकों की आपूर्ति के वास्ते नई दिल्ली में वेब पोर्टल का शुभारंभ किया। इस पोर्टल से देशभर में पाठ्य पुस्तकों का बेहतर वितरण सुनिश्चित होगा और एनसीईआरटी की पाठ्य पुस्तकों की अनुपलब्धता के बारे में स्कूलों और पालकों की आशंकाओं को दूर किया जा सकेगा। सत्र 2018-19 की पुस्तकों के लिए ऑर्डर देने के वास्ते स्कूल 8 सितंबर 2017 तक अपनी-अपनी बोर्ड संबद्धता संख्याएं और अन्य विवरण दर्ज कर इस पोर्टल पर लॉगइन कर सकते हैं। यह वेब-पोर्टल www.ncertbooks.ncert.gov.in पर उपलब्ध है।
पाठ्य पुस्तकों का ऑर्डर देते समय स्कूलों को भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है, वे आपूर्ति होने पर भुगतान कर सकते हैं। स्कूलों के पास सीधे अपने नजदीकी एनसीईआरटी विक्रेताओं से या अहमदाबाद, कोलकाता, गुवाहाटी, बैंगलूरू में एनसीईआरटी के क्षेत्रीय उत्पादन सह वितरण केंद्रों से भी पुस्तकें खरीदने का विकल्प होगा। जल्द ही और लोग भी वेब पोर्टल से पाठ्य पुस्तकें खरीद सकेंगे। वे पोर्टल पर लॉगइन कर अपने ऑर्डर दे सकते हैं और नाम मात्र डाक शुल्क देने पर पुस्तकें उनके घरों में पहुंचा दी जाएंगी। वेब पोर्टल पर खरीददार दिए गए अपने ऑर्डर की स्थिति पर नज़र रख सकेंगे। पाठ्य पुस्तकें दिल्ली में एनसीईआरटी के मुख्यालयों में स्थित खुदरा बिक्री कांउटरों, इसके क्षेत्रीय शिक्षा संस्थान अजमेर, भोपाल, भुवनेश्वर, शिलांग, मैसूर, अहमदाबाद, कोलकाता, गुवाहाटी और बैंगलुरू में इसके क्षेत्रीय उत्पादन सह वितरण केंद्रों पर भी बेची जाती रहेंगी।
एनसीईआरटी पाठ्य पुस्तकें वेबसाइट www.ncert.nic.in से नि:शुल्क डाउनलोड की जा सकती हैं। ई पाठशालापर लॉगइन कर या मोबाइल ऐपलिकेशन के जरिए एनसीईआरटी पाठ्य पुस्तकें डिजिटल रूप में भी प्राप्त की जा सकती हैं। एनसीईआरटी विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को अपनी पाठ्य पुस्तकें छापने के कॉपीराइट भी देती है। सत्र 2017-2018 के लिए 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कॉपीराइट दिए गए हैं। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा और साक्षरता के सचिव अनिल स्वरूप,स्कूल शिक्षा और साक्षरता की विशेष सचिव रीना रे, सीबीएसई के अध्यक्ष आरके चतुर्वेदी, सीबीएसई के निदेशक डॉ ऋषिकेश सेनापति भी उपस्थित थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]