स्वतंत्र आवाज़ टीवी

विकास के लिए परिवर्तन जरूरी-प्रधानमंत्री

2016-08-27 18:47:44

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीति आयोग की ओर से आयोजित 'भारत परिवर्तन' विषय पर पहला व्याख्यान देते हुए कहा है कि तीव्र परिवर्तन के लिए देश को कानूनों में बदलाव, अनावश्यक औपचारिकताओं को समाप्त करने और प्रक्रियाओं को तीव्र करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि रत्ती-रत्ती प्रगति से काम नहीं चलेगा, भारत को परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के लिए कायाकल्प की जरूरत है। राजकाज में बदलाव के जरिए परिवर्तन लाने की जरूरत पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि यह काम 19वीं सदी की प्रशासनिक प्रणाली के साथ नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि राजकाज में बदलाव मानसिकता में बदलाव के बिना नहीं हो सकता और मानसिकता में बदलाव तब तक नहीं होगा, जब तक की विचार परिवर्तनकारी न हों। उन्होंने कहा कि प्रक्रियाओं को तेज करना है और प्रौद्योगिकी अपनानी है, हम 19वीं सदी की प्रशासनिक प्रणाली के साथ 21वीं सदी में आगे नहीं बढ़ सकते हैं। नीति आयोग की बैठक में दिया गया उनका भाषण। |-----पीआईबी से साभार

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]
प्रतिक्रिया उपलब्ध नही है
स्वतंत्र आवाज़
word map