स्वतंत्र आवाज़ टीवी

लाल किले से प्रधानमंत्री का संबोधन!

2016-08-16 14:56:09

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 70वें स्‍वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से राष्‍ट्र को संबोधित किया। नरेंद्र मोदी ने महात्‍मा गांधी, सरदार पटेल, पंडित जवाहरलाल नेहरू तथा असंख्‍य लोगों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्‍होंने कहा कि 125 करोड़ भारतीयों ने अब यह संकल्‍प लिया है कि वे स्‍वराज्‍य से 'सुराज' की यात्रा को पूरा करेंगे। उन्‍होंने कहा कि सुराज की प्राप्ति के लिए, त्‍याग, कड़े परिश्रम, अनुशासन, समर्पण और साहस की आवश्‍यकता होती है, इसलिए पंचायत से लेकर संसद तक प्रत्‍येक संस्‍था को, प्रत्येक व्यक्ति को इस लक्ष्‍य की दिशा में मिलजुल कर काम करना होगा। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर संवेदनशीलता, दायित्‍व, जवाबदेही, पारदर्शिता, दक्षता तथा सुशासन जैसे सुराज के विभिन्‍न तत्‍वों को परिभाषित किया। उन्‍होंने अपनी सरकार के जनकल्याण के लिए किए गए कार्यों का जिक्र किया और भारत को पीओके, गिलकिट और बलूचिस्तान के लोगों से जोड़ते हुए इन क्षेत्रों पर भारत की बदली हुई नीति के संकेत दिए। उन्होंने आंतकवादियों को शहीदों के रूप में महिमामंडित करने के प्रयासों की कड़े शब्दों में निंदा की और कहा कि सारा विश्व भारतीय के मानवीय दृष्टिकोण को सराहेगा और सभी प्रकार की आतंकवादी गतिविधियों की एक स्वर में भर्त्सना करेगा।|-----पीआईब‌ी से साभार

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]
स्वतंत्र आवाज़
word map