स्वतंत्र आवाज़
word map
कला और संस्कृति
वाजिद अलीशाह महोत्सव

वाजिद अलीशाह महोत्सव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने दिलकुशा गार्डेन में वाजिद अलीशाह महोत्सव का उद्घाटन किया। महोत्सव का आयोजन रूमी फाउंडेशन के लखनऊ चैप्टर ने किया था। उन्होंने इस अवसर पर अवध क्षेत्र की सांस्कृतिक विरासत का प्रसार करने के लिए पद्मभूषण कुमुदनी लाखिया और सांस्कृतिक एवं सामाजिक गतिविधियों में व्यापक तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने वाली माधवी कुकरेजा को स्मृति चिन्ह देकर रूमी पुरस्कार-2017 से सम्मानित किया। राज्यपाल ने कहा कि ऐसे सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन बिना रूके निरंतर होते रहना चाहिए, क्योंकि इससे लखनऊ की परंपरा और संस्कृति देखने को मिलती है। उन्होंने कहा कि कला के माध्यम से जहां एक ओर पर्यटन बढ़ता है, वहीं व्यापार और उद्योग में भी बढ़ोत्तरी होती है, पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटकों के लिए सुविधाएं भी बढ़नी चाहिएं।