स्वतंत्र आवाज़
word map

सोशल और न्यू मीडिया पर दिखेगी यूपी सरकार

नए प्रचार माध्यमों पर दिखें सरकारी कार्यक्रम-मुख्यमंत्री

यूपी सूचना विभाग की प्रचार-प्रसार की नई रणनीति

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Sunday 3 December 2017 01:33:02 AM

while reviewing the information department, cm yogi adityanath

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार अपने कार्यक्रमों और योजनाओं के साथ अब सोशल मीडिया और न्यू मीडिया पर दिखेगी, जिसके लिए यूपी सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने मीडिया हब के रूपमें पूरा प्लान बनाया है, जो शीघ्र लागू होने जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसकी समीक्षा करते हुए इसे हरी झंडी दे दी है। उन्होंने प्राथमिकता देकर राज्य सरकार की नीतियों, कार्यक्रमों और योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के निर्देश देते हुए कहा है कि सोशल और न्यू मीडिया को और अधिक प्रभावी माध्यम के रूपमें विकसित किया जाए। उन्होंने कहा कि फेसबुक, ट्विटर, न्यूज़ पोर्टल, न्यूज़ वेबसाइट आदि के माध्यम से शासन की योजनाओं को आम आदमी की अपेक्षाओं और आवश्यकता के अनुरूप ढालते हुए प्रचार-प्रसार की रणनीति अपनाई जाए। उन्होंने कहा कि प्रचार-प्रसार की रणनीति ऐसी हो कि समाज के हर वर्ग को यह जानकारी हो सके कि उसके कल्याण और उत्तर प्रदेश विकास के लिए राज्य सरकार क्या कर रही है। मुख्यमंत्री ने अपने कार्यालय शास्त्रीभवन में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के कार्यकलापों की गहन समीक्षा की।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए कि सोशल मीडिया पर सरकार के जनकल्याणकारी कार्यों, नीतियों, निर्णयों तथा विकास कार्यों का तत्काल विवरण प्रसारित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिलास्तर पर जिलाधिकारी और राज्य मुख्यालय स्तर पर प्रत्येक विभाग में एक नोडल अधिकारी को तत्काल नामितकर सरकार के कार्यों का प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि विभागीय नोडल अधिकारियों और जिलाधिकारियों को शासकीय नीतियों के प्रचार-प्रसार से संबंधित कार्य में तत्परता बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन और विभागीयस्तर पर सरकार के कार्यकलापों का विवरण प्रिंट मीडिया तथा इलेक्ट्रानिक मीडिया के साथ-साथ सोशल मीडिया यानी न्यू मीडिया पर भी आना चाहिए। गौरतलब है कि भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने न्यूज़ पोर्टल और न्यूज़ साइट्स को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की श्रेणी में माना है और इसे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया/ न्यू मीडिया के रूपमें चिन्हित किया गया है। यह भी उल्लेखनीय है कि न्यू मीडिया यानी सोशल मीडिया न्यूज़ पोर्टल को प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक चैनल के बाद विश्व की तीसरी सशक्त मीडिया क्रांति माना गया है।
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया तथा सोशल मीडिया की तात्कालिक आवश्यकता अनुरूप सूचना विभाग की प्रेस विज्ञप्तियों को तैयार किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि मीडिया की अत्याधुनिक तकनीक और समाचार संप्रेषण को अपनाते हुए क्षमता के अनुरूप सूचना विभाग को अपडेट किया जाए। उन्होंने समाज के ग़रीब, शोषित, कमजोर और उपेक्षित वर्गों को शासकीय योजनाओं का अधिकाधिक लाभ पहुंचाए जाने के मद्देनजर विशेष प्रबंध किए जाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सूचना विभाग अन्य विभागों के साथ समन्वय बनाकर प्रचार-प्रसार के कार्यों में गति लाए। उन्होंने कहा कि सूचना विभाग के अधिकारियों को सूचना तकनीक की अत्याधुनिक प्रणाली से अवगत कराने के लिए उनके प्रशिक्षण की भी व्यवस्था की जाए।
प्रमुख सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराया कि लोकभवन में सोशल मीडिया हब सृजित करने की कार्रवाई अंतिम चरण में है और इसी महीने से इसका कार्य आरंभ हो जाएगा। उन्होंने मुख्यमंत्री को मीडिया कवरेज के बारे में विस्तार से जानकारी दी। सूचना निदेशक अनुज कुमार झा ने बताया कि सूचना विभाग की आधिकारिक वेबसाइट को पुनः नए फीचर्स के साथ तैयार किया गया है, जिसका जल्द ही लोकार्पण कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिला सूचना कार्यालयों को सुदृढ़ किया गया है और इन सभी कार्यालयों से समाचार पत्रों की क्लिपिंग्स प्रतिदिन ईमेल से प्राप्तकर शासन में उपलब्ध कराई जा रही हैं, इसके अलावा सूचना विभाग को अत्याधुनिक संचार तकनीक से लैस करने की कार्रवाई भी तेजी से की जा रही है। बैठक में सचिव मुख्यमंत्री मृत्युंजय कुमार नारायण, सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार, अपर निदेशक सूचना डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी और संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]