स्वतंत्र आवाज़
word map

नागा संस्‍कृति विविधता की द्योतक-कोविद

नागालैंड के किसामा में ऐतिहासिक होर्नबिल महोत्‍सव

'नागालैंड के विकास के बिना भारत का विकास अधूरा'

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Sunday 3 December 2017 12:13:04 AM

ramnath kovid at the inauguration of the hornbill festival at kisama

किसाम (नागालैंड)। राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने किसामा में नागालैंड के होर्नबिल महोत्‍सव और राज्य स्थापना दिवस पर एक कार्यक्रम का उद्घाटन किया। राष्‍ट्रपति ने इस अवसर पर कहा कि होर्नबिल महोत्‍सव संगीत, नृत्‍य और भोजन के रूपमें सालों से अपनाई गई नागा की समृद्ध संस्‍कृति एवं परंपराओं का प्रदर्शन है और किसामा में होर्नबिल महोत्‍सव और अंतर्राष्‍ट्रीय संगीत समारोह नागा समाज की विभिन्‍नता का द्योतक है। राष्‍ट्रपति ने कहा कि पिछली अर्द्धशताब्‍दी नागालैंड की उपलब्‍धियों और कठिनाइयों का समय रही है, नागालैंड के लोगों ने कई तरह की परीक्षाएं दीं, परंतु उनकी महत्‍वपूर्ण योग्‍यताएं और अच्‍छाइयां स्‍पष्‍ट रूपसे प्रकट हुई हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने कहा कि आज नागालैंड इतिहास रचने के कगार पर है, काफी साल के दंगों के बाद अब कुछ उम्मीद हुई है, राज्य की जनता, सिविल सामाजिक संस्थाओं और सभी भागीदारों की सहायता से अब स्थाई शांति का अवसर आया है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि सभी के लिए न्यायपूर्ण और सभी की अपेक्षाओं को पूरा करने वाला अंतिम समझौता शीघ्र ही कर लिया जाएगा।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने कहा कि नागालैंड और पूर्वोत्तर भारत की कथा के केंद्र हैं, नागालैंड के विकास के बिना, भारत का विकास अधूरा होगा। उन्होंने कहा कि नागालैंड के युवा देश का गौरव हैं, वे स्वतंत्रता के बाद 1948 में लंदन में आयोजित ओलंपिक खेलों में राष्ट्रीय फुटबाल टीम का नेतृत्व करने वाले प्रथम कैप्टन डॉ टीएओ के सच्चे अनुयाई हैं। उन्होंने कहा कि नागालैंड के युवा शेष भारत के लिए आदर्श हैं, इस राज्य की बेटी टेम्सटुला इंसोंग ने वाराणसी में गंगा नदी के घाटों की सफाई का महत्वपूर्ण कार्यकर देश का दिल जीत लिया है और दूसरी नागा लड़की चिइवेलोउ थेले दिल्ली पुलिस के अपने अधिकारी बैच में सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षु कमांडो चुनी गई है। रामनाथ कोविद ने कहा कि सशस्त्र सेनाओं के सर्वोच्च कमांडर के रूपमें उन्हें नागा सैनिकों और अधिकारियों पर अत्यधिक गर्व है, उनका स्थान देश के सर्वश्रेष्ठ सैनिकों में आता है। राष्ट्रपति ने कहा कि नागालैंड अभी और बहुत कुछ प्रदान कर सकता है, इसकी ताकत उसकी जैविक फसल, फूल और फलों के उत्पादन में है।
राष्ट्रपति ने कहा कि नागालैंड में दुर्लभ औषधीय पौधे और जड़ी बूटियां हैं, जो रोज़गार पैदा करने और अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने में मदद कर सकती हैं। उन्होंने यहां की सबसे तेज मिर्च किंग चिल्ली नागा जोलोकिया का जिक्र किया, जो विश्व में सबसे अधिक तीखी मिर्च मानी जाती है। उन्होंने कहा कि विश्व के सबसे तीखे बिकने वाले सॉस में शामिल करने के लिए इसे बोतलबंद बनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि नागालैंड में आकर्षक पर्यटन केंद्र बनने की भी क्षमता है, जो विरासत और संस्कृति का एक अद्वितीय मिश्रण और शानदार प्राकृतिक सुंदर दृश्य प्रस्तुत करता है। रामनाथ कोविद ने कहा कि हमारा देश दुनिया की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, हम एक विविध राष्ट्र हैं, हमारी भाषाई, जातीय, धार्मिक और भौगोलिक विविधता भारत को विशेष बनाती है और यह हमारी सबसे बड़ी ताकत है। उन्होंने कहा कि भारतीय होने का यह एक रोमांचक समय है।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]