स्वतंत्र आवाज़
word map

'गुजरात में विनाशकारी शक्तियों को पराजित करें'

भुज, जसदण, धारी और वडोदरा में चुनाव रैलियों में जनसैलाब

कांग्रेस मेरी ग़रीबी और ग़रीबों का मज़ाक न उड़ाए-नरेंद्र मोदी

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Tuesday 28 November 2017 05:11:34 AM

pm narendra modi addressing public meetings at gujarat

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के भुज, जसदण, धारी और वडोदरा में चुनाव सभाओं को संबोधित किया, जिनमें आम जनता की बड़ी भागीदारी देखी गई है। नरेंद्र मोदी ने इन जनसभाओं में कहा कि जनता के समर्थन और आशीर्वाद से मुझे विश्वास है कि 150 से भी अधिक सीटों पर जीत के साथ एक बार फिर से गुजरात में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने वाली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस झूंठा प्रचार करके गुजरात की जनता को गुमराह करना चाहती है, लेकिन गुजरात की जनता कांग्रेस के बहकावे में आने वाली नहीं है। उन्होंने कच्छ में माँ आशापुरा देवी के दर्शन किए और श्रद्धालुओं से भी मुलाकात की। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम विकास के पथ पर अविरल गति से आगे बढ़ रहे हैं, लेकिन विपक्ष हमपर कीचड़ उछाल रहा है। उन्होंने कहा कि मैं कीचड़ उछालने वालों का दिल से आभार मानता हूं, क्योंकि वे जितना कीचड़ उछालेंगे, हमारे लिए कमल का खिलना उतना ही आसान हो जाएगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गुजरात मेरी मां है, मेरी आत्मा है, दिल्ली में बैठे हुए भी मैं ऐसी भूल नहीं कर सकता कि गुजरात की कोई भी अनदेखी हो। उन्होंने कहा कि भारत में आज एक ऐसी सरकार है, जिसके लिए जनता का हित सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कुछ लोगों को लाभ पहुंचाने का काम किया है, जबकि हमने सबके हित के लिए काम किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में एक तरफ विकास है तो दूसरी तरफ वंशवाद। उन्होंने कहा कि यह विकासवाद बनाम वंशवाद का चुनाव है और गुजरात की जनता वंशवाद को कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि विकास हमारी सरकार का मूल मंत्र रहा है, हमने कच्छ के रेगिस्तान में भी केसर खिलाने का काम किया है, पानी पहुंचाने का प्रबंध किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास न तो नीयत है, न नीति, न नेता है और न ही उसका इस धरती से कोई नाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में तो एक ही परिवार का चेहरा नज़र आता है, कोई दूसरा नेता उभरकर सामने नहीं आ सकता है। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस को याद करते हैं तो बोफोर्स घोटाला याद आता है, टूजी याद आता है, कोयला घोटाला याद आता है, जल-थल-नभ हर जगह जहां भी कांग्रेस को मौक़ा मिला, वहां उसने भ्रष्टाचार ही किया है। उन्होंने सवाल किया कि जो सिर्फ एक परिवार की सोचेगा, वो देश के लिए क्या काम करेगा?
नरेंद्र मोदी ने कहा कि गुजरात के बेटे को लेकर कांग्रेस झूंठ फैला रही है, उसी प्रकार सरदार वल्लभभाई पटेल को लेकर भी कांग्रेस ने झूंठ फैलाया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा गुजरात के प्रति बैर का भाव रखा है, जिसने सरदार वल्लभभाई पटेल का अपमान किया है, गुजरात के नाम से ही जिनको नफरत है, वे गुजरात का विकास नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि सरदार साहब के साथ कांग्रेस ने क्या किया, यदि इसके बारे में जानना है तो मणिबेन की डायरी पढ़ें कि किस तरह एक बेदाग़ चरित्र वाले महान मनीषी को कांग्रेस ने अपमानित किया था, इसी तरह मोरारजी भाई देसाई जैसे सम्माननीय और महान व्यक्तित्व का भी अपमान कांग्रेस ने किया, क्योंकि वे गुजरात से थे। कांग्रेस पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि गुजरात में पहली बार जब जनता मोर्चा की सरकार बनी तो बाबूभाई जसभाई पटेल मुख्यमंत्री बने। उन्होंने कहा कि गुजरात में पहली बार कोई पटेल मुख्यमंत्री बने थे, लेकिन इंदिरा गांधी ने आपातकाल लागू कर सभी विधायकों को जेल में डाल दिया था, विधायकों की खरीद-फरोख्त की गई और बाबूभाई जसभाई पटेल की सरकार गिरा दी गई। उन्होंने कहा कि इसी तरह कांग्रेस ने चिमनभाई पटेल के साथ भी धोखा किया, यह भारतीय जनता पार्टी थी, जिसने चिमनभाई पटेल का साथ दिया और फिर केशुभाई पटेल मुख्यमंत्री बने। उन्होंने कहा कि गुजरात में भूकंप के राहत कार्यों में सहयोग करने के बदले कांग्रेस के कार्यालय से केशुभाई पटेल के खिलाफ साजिश रची गई। उन्होंने कहा कि चौथे पटेल मुख्यमंत्री के रूपमें आनंदीबेन पटेल ने गुजरात की बागडोर संभाली, लेकिन उनके खिलाफ भी कांग्रेस ने साजिश रची।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने चार-चार पाटीदार मुख्यमंत्रियों के खिलाफ साजिश रचकर गुजरात को बदनाम करने की हर मुमकिन कोशिश की है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में ऐसा द्वेष, ऐसी इर्ष्या नहीं देखी, समाज को बांटने के लिए कांग्रेसी जब किसी भी हद तक गिर सकते हैं, तो वे मोदी को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं? उन्होंने कहा कि एक ग़रीब का बेटा प्रधानमंत्री बने तो इसमें दुःख नहीं होना चाहिए, ग़रीब घर में जन्म लेने के कारण कांग्रेस मोदी को पसंद नहीं करती है। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस से आग्रह करता हूं कि वह मेरी ग़रीबी और ग़रीबों का मज़ाक न उड़ाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चायवाले का मजाक उड़ाकर ग़रीबों का अपमान कर रही है, ये मोदी है, चाय बेचेगा, लेकिन देश कभी नहीं बेचेगा। नरेंद्र मोदी ने कहा कि डोकलाम में हमारे जवानों ने 71 दिन तक चीन से आंख से आंख मिलाकर बात की, लेकिन कांग्रेस नेता तो चीनी राजदूत को गले लगा रहे थे। उन्होंने कहा कि 26/11 में कांग्रेस सरकार के समय आतंकवादी हमला हुआ था, उरी में भी पिछले साल हमला हुआ, लेकिन सरकार-सरकार में फर्क था, हमारे बहादुर सिपाहियों ने सर्जिकल स्ट्राइक करके आतंकवादियों को मौत के घाट उतारा। उन्होंने कहा कि अख़बारों में खबरें छपी थीं कि पाकिस्तान में ट्रक भर-भरकर लाशें ले जाई गईं, लेकिन भारत में विपक्ष तो इसका सबूत मांग रहा था। उन्होंने कहा कि हमारे जवान वहां सर्जिकल स्ट्राइक करने गए थे न कि फिल्म बनाने। उन्होंने कहा कि अब पाकिस्तान ने आतंकवादी हाफिज सईद को छोड़ दिया है तो विपक्ष हम पर उंगली उठा रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की कोर्ट अपने यहां एक आतंकवादी को छोड़ती है, लेकिन पता नहीं लोग भारत में क्यों जश्न मना रहे हैं? उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी आतंकवादी हाफिज सईद के जेल से छूटने पर कांग्रेस ताली बजाती है और सेना के सर्जिकल स्ट्राइक करने पर सेना की वीरता का अपमान करती है, यही है कांग्रेस का असली चेहरा।
नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को पारदर्शी बनाने, देश की अर्थव्यवस्था से कालाधन, जाली नोट के कारोबार और भ्रष्टाचार को ख़त्म करने के लिए नोटबंदी की गई थी, लेकिन एक साल बाद भी कांग्रेस इसका रोना रो रही है। उन्होंने कहा कि जिनको प्रॉब्लम है, वे कान खोलकर सुन लें कि यह सरकार ईमानदारी के मार्ग से हटने वाली नहीं है, जिन्होंने ग़रीब को लूटा है, वह उन्हें ग़रीबों को लौटाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि हमने जब नोटबंदी की तब पता चला कि पाकिस्तान से कैसे कश्मीर के आतंकवादियों को पैसा बांटा जाता था। उन्होंने कहा कि मैं हिम्मत नहीं हारने वाला नहीं हूं, मैं देश के लिए और ग़रीब जनता के लिए लड़ता रहूंगा, भ्रष्टाचार, कालेधन और आतंकवाद के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी। जीएसटी की चर्चा करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि जीएसटी काउंसिल में कांग्रेस के भी मंत्री हैं, ये काउंसिल में तो अपनी पूर्ण सहमति देते हैं, लेकिन बाहर आकर विरोध करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि जब भी जरूरत हुई, हमने जीएसटी में सुधार किए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार 125 करोड़ देशवासियों की सरकार है और हम निरंतर देश के लोगों के लिए काम करते हैं, जीएसटी को और भी सरल बनाने के लिए सुधार से नहीं हिचकेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब मैं छोटा था, तब घोघा-दहेज रो-रो फेरी सेवा की बात सुनता था, लेकिन इसका उद्घाटन करने का सौभाग्य मुझे मिला, आखिर कांग्रेस को इस योजना को पूरा करने से किसने रोका था? उन्होंने कहा कि घोघा-दहेज रो-रो फेरी की तरह ही कच्छ से मुंबई तक रो-रो फेरी की शुरुआत की जाएगी। उन्होंने कहा कि गुजरात में 1995 तक शासन करने के बावजूद कांग्रेस ने गुजरात के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विकास की बात तो कांग्रेस के गले से नीचे उतरती ही नहीं है, जबकि मेरा एकमात्र ध्येय गुजरात की जनता को सुख पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि विकास, विकास और विकास यही हमारा मार्ग, मकसद और मंत्र है। उन्होंने कहा कि हम देश के आम नागरिकों के जनजीवन में बदलाव लाने के लिए कटिबद्ध हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के समय गुजरात की जो स्थिति थी, उससे हर कोई परिचित है, हर तरफ अराजकता और बदहाल क़ानून का साम्राज्य था, पतंग उड़ाने में भी दंगे हो जाते थे, बच्चे के खेल में भी दंगे हो जाते थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक भाई को दूसरे भाई से लड़ाने का काम करती थी, लेकिन आज सब तरफ शांति है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि चुनाव आएंगे, जाएंगे, जीत-हार होती रहेगी, लेकिन गुजरात का ताना-बाना नहीं टूटना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं यह विश्वास दिलाना चाहता हूं कि दिल्ली की सरकार गुजरात की जनता के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगी और गुजरात के विकास के लिए सतत प्रयत्नशील रहेगी। नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार ने 14वें वित्त आयोग में कांग्रेस के समय 13वें वित्त आयोग की तुलना में विकास के लिए गुजरात को दी जाने वाली सहायता राशि में ढाई गुना वृद्धि की है। उन्होंने गुजरात के विकास के लिए किए गए और किए जा रहे कार्यों और परियोजनाओं का जिक्र किया। उन्होंने गुजरात की जनता से अपील की कि वह 9 दिसंबर को पहले चरण में भाजपा को मतदान करके राज्य की सभी विनाशकारी शक्तियों को पराजित करे और विकास की गति और तेज करने के लिए गुजरात में पूर्ण बहुमत से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाए।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]