स्वतंत्र आवाज़
word map

'संत कबीर ने किया कुरीतियों के विरुद्ध संघर्ष'

भोपाल में सद्गुरु कबीर महोत्सव में राष्ट्रपति का संबोधन

'मध्य प्रदेश में कबीर' पुस्तक की पहली प्रति भी ग्रहण की

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Friday 10 November 2017 11:17:46 PM

ramnath kovid receiving the first copy of the book madhya pradesh mein kabir

भोपाल। राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने कल भोपाल में सद्गुरु कबीर महोत्सव को संबोधित किया। राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में ‘राष्ट्रीय कबीर सम्मान’ गठित करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इस सम्मान से उन कवियों को प्रोत्साहन मिलता है, जिन्होंने संत कबीर की परंपरा को आगे बढ़ाया है। उन्होंने सम्मान प्राप्तकर्ताओं के संत कबीर की परंपरा में योगदान की सराहना की और उनको बधाई दी।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने कहा कि सद्गुरु कबीर केवल महान आध्यात्मिक नेता ही नहीं थे, बल्कि समाज सुधारक भी थे, उन्होंने समाज में व्याप्त कुरीतियों के विरुद्ध संघर्ष किया और इन कुरीतियों को दूर करने के अनंत प्रयास किए। राष्ट्रपति ने कहा कि संत कबीर के दिखाए समानता और सद्भाव के रास्ते हमारे समाज के लिए प्रेरणा हैं। राष्ट्रपति ने इस अवसर पर ‘मध्य प्रदेश में कबीर’ पुस्तक की पहली प्रति भी प्राप्त की। राष्ट्रपति ने बाद में भोपाल में रानी झांसी की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित की। कबीर महोत्सव में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, उनके मंत्रिमंडल के सदस्य और जाने-माने कबीरपंथी मौजूद थे। राष्ट्रपति ने अमरकंटक जाकर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय के दूसरे दीक्षांत समारोह को संबोधित किया।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]