स्वतंत्र आवाज़
word map

सूरत को 'सर्वोत्‍तम शहरी बस सेवा पुरस्‍कार'

केंद्रीय शहरी मामलों के मंत्रालय की पुरस्‍कार योजना

कोच्चि ने बड़ी तेजी से पूरी की मेट्रो रेल परियोजना

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Tuesday 7 November 2017 12:58:56 AM

surat municipal corporation

हैदराबाद। केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने ‘सर्वोत्‍तम शहरी बस सेवा पुरस्‍कार’ के लिए सूरत नगर निगम का चयन किया है। यहां 87 फीसदी निजी वाहन एवं ऑटो-रिक्‍शा इस्‍तेमालकर्ताओं को शहरी बस सेवा का उपयोग करने के लिए आकर्षित करने में मिली उल्‍लेखनीय सफलता को ध्‍यान में रखते हुए सूरत नगर निगम इस पुरस्‍कार के लिए सर्वाधिक उपयुक्त पाया गया है। इसी तरह सार्वजनिक साइकिल साझा करने के लिए मैसूर को ‘सर्वश्रेष्ठ गैर मोटर चालित परिवहन पुरस्कार’ प्राप्त हुआ है। कोच्चि (केरल) का चयन बड़ी तेजी से अपनी मेट्रो रेल परियोजना को पूरा करने और परिवहन के अन्‍य साधनों के साथ मेट्रो को एकीकृत करने के लिए ‘सर्वोत्‍तम शहरी परिवहन पहल पुरस्‍कार’ मिला है।
आवास एवं शहरी परिवहन मंत्रालय ने हैदराबाद में तीन दिवसीय शहरी गतिशीलता सम्‍मेलन सह-प्रदर्शनी के समापन पर ‘सर्वोत्‍तम शहरी परिवहन विधाओं’ के लिए पुरस्‍कारों की घोषणा की। हैदराबाद की यातायात एकीकृत प्रबंधन पहल ‘एच-ट्रिम्‍स’ का चयन ‘सर्वाधिक बुद्धिमान परिवहन परियोजना’ श्रेणी के तहत ‘प्रशंसनीय पहल पुरस्‍कार’ के लिए किया गया है, जबकि चित्‍तूर का चयन सड़क सुरक्षा बेहतर करने के लिए शहरी पुलिस की पहल को ध्‍यान में रखते हुए ‘प्रशंसनीय पहल पुरस्‍कार’ के लिए किया गया है। लगभग 45 लाख की आबादी वाला सूरत शहर वर्ष 2014 तक तिपहिया एवं निजी वाहनों पर अत्‍यधिक निर्भर था, जब बस त्‍वरित परिवहन प्रणाली यानी बीआरटीएस और शहरी बसों का परिचालन शुरू किया गया था। मौजूदा समय में इस शहर में 28 मार्गों पर 275 शहरी बसों का परिचालन किया जा रहा है, जिनका किराया न्‍यूनतम 4 रुपये से लेकर अधिकतम 22 रुपये तक है।
पर्यटन शहर मैसूर ने इसी साल जून में 425 साइकिलों और 45 डॉकिंग केंद्रों के साथ अपनी सार्वजनिक साइकिल साझा सुविधा का शुभारंभ किया था। पिछले महीने तक इसके लिए 6400 से भी ज्‍यादा सदस्‍यों का पंजीकरण हो चुका है। इसका किराया बेहद कम है। दो घंटे तक इस्‍तेमाल करने के लिए सिर्फ 5 रुपये बतौर किराया लिया जाता है। अन्‍य पुरस्‍कार विजेता ये हैं-मध्‍य प्रदेश: क्‍लस्‍टर आधारित बस पारगमन प्रणाली क्रियांवित करने के लिए प्रशंसनीय शहरी जन पारगमन पहल। भोपाल: सार्वजनिक साइकिल साझा सुविधा शुरू करने के लिए प्रशंसनीय पहल। नोएडा एवं ग्रेटर नोएडा: प्रशंसनीय शहरी बस सेवा परियोजना पहल। अंडमान: महिलाओं के लिए विशेष बस सेवाएं शुरू करने के लिए प्रशंसनीय पहल। लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना: प्रशंसनीय शहरी जन पारगमन पहल। आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने शहरी परिवहन में सर्वोत्‍तम विधाओं को बढ़ावा देने के लिए इन पुरस्‍कारों की घोषणा की है। ये पुरस्‍कार वार्षिक ‘शहरी गतिशीलता भारत सम्‍मेलन’ के दौरान प्रदान किए गए।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]