स्वतंत्र आवाज़
word map

'भारतीयों का इथियोपिया में बड़ा योगदान'

भारत की तरह विविधताओं वाला देश है इथियोपिया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविद का भारतीयों को संबोधन

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Friday 6 October 2017 03:54:52 AM

president ramnath kovid in a group photograph at the indian community

अदीस अबाबा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने इथियोपिया में भारत के राजदूत अनुराग श्रीवास्तव के यहां भारतीय समुदाय स्वागत समारोह को संबोधित किया। राष्ट्रपति ने इस अवसर पर कहा कि इथियोपिया में भारतीय समुदाय भारत-इथियोपिया संबंधों का केंद्र बिंदु रहा है, समुदाय के लोगों ने अध्यापक एवं शिक्षाविद् के तौर पर मेजबान देश के राष्ट्रीय निर्माण में सहयोग दिया है, उद्यमी के तौर पर आर्थिक सुअवसरों को उत्पन्न किया है, स्थानीय लोगों को कौशल प्रदान किया है, तकनीकी विशेषज्ञ एवं कर्मचारी के तौर पर इथियोपिया के उद्योग की महत्ता को बढ़ावा दिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय समुदाय ने इथियोपिया के समाज में अपने लिए सम्मान कड़ी मेहनत और समर्पण से प्राप्त किया है, उन्होंने भारतीय मूल्यों, पारिवारिक परंपरा और नैतिक कार्यों को संभालकर रखा है एवं आगे बढ़ाया है।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने कहा कि इथियोपिया भी भारत की तरह विविधताओं से भरा देश है और विभिन्न भाषाओं और पाक कलाओं, संगीत, नृत्य एवं नाटय कलाओं की भूमि है। उन्होंने कहा कि भारतीय समुदाय को स्थानीय ग्रहणशील संस्कृति का लाभ लेना चाहिए और अपनी संस्कृति को साझा एवं इसका प्रदर्शन करना चाहिए। राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और इथियोपिया दोनों के पास विशाल युवा जनसंख्या है, युवा भविष्य हैं और नए विचारों का आयुर्भाव उन्हीं पर निर्भर करता है। उन्होंने भारतीय समुदाय को इथियोपिया के युवाओं से जुड़ने के लिए विशेष प्रयास करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि बेहतर विश्व निर्माण के लिए चाहे वह जलवायु परिवर्तन से निपटने या लोगों को कौशल प्रदान करने में उनके विचार समाधान का काम करेंगे।
रामनाथ कोविद ने कहा कि भारत सरकार प्रवासी समुदाय के साथ दीर्घकालिक एवं सक्रिय संपर्क जारी रखना चाहती है, इस संपर्क का मुख्य उद्देश्य भारत में हो रहे परिवर्तनकारी बदलाव के साथ, समुदाय के साथ परिचित होना भी है। उन्होंने कहा कि प्रवासियों के साथ संवाद भी संभावनाओं को आकार देना और मंच प्रदान करने के उद्देश्य से है, जिससे यह भारत की प्रगति और विकास में प्रतिभागिता कर सकें। राष्ट्रपति ने कहा कि भारत सरकार विदेशी भारतीय समुदाय के हितों का ध्यान रखती है और इनके साथ खड़े रहने का दायित्व को निभाती है। उन्होंने वर्ष 2015 में यमन में ऑपरेशन राहत के दौरान भारतीय नागरिकों को यमन और लीबिया से सुरक्षित निकालने और हाल ही में संयुक्त राज्य अमरीका के कुछ हिस्सों में बाढ़ के दौरान परिवारों को सहायता के प्रयासों का उल्लेख किया। कार्यक्रम में भारतीय इथोपियन समुदाय के लगभग 500 सदस्यों ने भाग लिया। भारतीय समुदाय की इथोपिया देश में संख्या लगभग 5000 है।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]