स्वतंत्र आवाज़
word map

'राष्ट्रीय आय में गुजरात का व्यक्ति अव्वल'

सरदार से आर्शीवाद ले शाह की गुजरात गौरव यात्रा शुरु

भाजपा को पुनः प्रचंड बहुमत देने की गुजरात से अपील

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Sunday 1 October 2017 10:30:05 AM

amit shah

अहमदाबाद। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज भारत की एकता एवं अखंडता के लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की पावन भूमि करमसद में सरदार से आर्शीवाद लेकर गुजरात गौरव यात्रा की समारोहपूर्वक शुरुआत की। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से गुजरात की विकास यात्रा को जन-जन तक पहुंचाने का आह्वान किया और भाजपा को पुनः प्रचंड बहुमत देने की गुजरात की जनता से अपील की। अमित शाह ने गुजरात गौरव यात्रा शुरू करने से पहले करमसद में सरदार वल्लभभाई पटेल के घर जाकर उनका वंदन किया और उन्हें श्रद्धा के फूल अर्पित किए। अमित शाह ने इसके बाद करमसद में सरदार पटेल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। भाजपा अध्यक्ष ने इस अवसर पर कहा कि हम गुजरात गौरव यात्रा की शुरुआत किसानों की आवाज़ सरदार पटेल की पावनभूमि से कर रहे हैं, यहीं से उन्होंने किसान और देश को एक करने का बीड़ा उठाया था। उन्होंने कहा कि गुजरात गौरव यात्रा आने वाले दिनों में भारतीय जनता पार्टी को एक बार फिर से प्रचंड बहुमत से विजयी बनाएगी। उन्होंने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में नरेंद्रभाई मोदी ने भ्रष्टाचार मुक्त एवं निर्णायक सरकार और गुजरात विकास मॉडल देश के सामने रखा था, तब देश की जनता को यह मालूम पड़ा था कि एक लोक कल्याणकारी सरकार किस तरह से काम करती है और विकास को कैसे जन-जन तक पहुंचता है।
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे गुजरात गौरव यात्रा के माध्यम से गुजरात के विकास की गाथा गांव-गांव और जन-जन तक सुनाएं और प्रण लें कि इस बार विधानसभा की 150 से अधिक सीटें जीतकर राज्य में एक बार फिर से विकासोन्मुखी एवं लोक कल्याणकारी भाजपा की सरकार बनाएंगे। अमित शाह ने आज भी राहुल गांधी पर करारे प्रहार किए। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी गुजरात आकर भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल का हिसाब मांगते हैं, लेकिन तीन पीढ़ियों तक कांग्रेस पार्टी ने जो अन्याय गुजरात के साथ किया है, पहले वह गुजरात की जनता को उसका जवाब दें। उन्होंने आरोप लगाया कि देश की आजादी से लेकर आज तक कांग्रेस पार्टी ने गुजरात के साथ अन्याय करने का ही काम किया है, कांग्रेस ने सरदार पटेल के साथ अन्याय किया, केंद्र में कांग्रेस की सरकार के रहते सरदार पटेल को भारत रत्न सम्मान से वंचित रखा, कांग्रेस ने संसद में सरदार पटेल का तैल चित्र तक नहीं लगने दिया, उनके लिए आयोजित श्रद्धांजलि सभा में रुकावट तक डाली गई, इसलिए गुजरात की जनता कांग्रेस से सरदार पटेल के अपमान पर जवाब मांग रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की पहली पीढ़ी ने ही सरदार वल्लभभाई पटेल के साथ अन्याय नहीं किया, बल्कि कांग्रेस की दूसरी पीढ़ी ने भी देश के छठे प्रधानमंत्री हुए मोरारजी देसाई के साथ भी अन्याय किया और कांग्रेस की तीसरी पीढ़ी भी वही कर रही है, उसने भारत के विकास पुरुष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अन्याय किया, इसका कांग्रेस को जवाब देना होगा।
अमित शाह ने कहा कि मैं आजादी से लेकर 1995 तक के कांग्रेस के शासन और 1995 से 2017 तक के भारतीय जनता पार्टी के शासन का हिसाब-किताब लेकर गुजरात की जनता के सामने उपस्थित हुआ हूं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार में गुजरात अंधेरे में जीने को विवश था, जबकि भाजपा के समय गुजरात में 24 घंटे बिजली आ रही है, कांग्रेस के समय शिक्षा के प्रति उदासीनता थी, जबकि भाजपा के समय समृद्ध शिक्षण नीति है, कांग्रेस की सरकार में गुजरात में सड़क नाम की कोई चीज नहीं थी, आज गुजरात में रोड सहित इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के क्षेत्र में एक नई मिसाल कायम हुई है। उन्होंने कहा कि गुजरात में कांग्रेस की सरकार भ्रष्टाचार की प्रतीक थी, जबकि भाजपा की सरकार पारदर्शिता और विकास की प्रतीक है। अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा के गुजरात शासन की तुलना करने पर पता चलता है कि चाहे वह बजट हो, कैपिटल इनकम हो, बिजली का उत्पादन हो, इंफ्रास्ट्रक्चर हो, एग्रीकल्चर हो, दुग्ध उत्पादन हो, गुजरात में हर क्षेत्र में कांग्रेस की तुलना में भारतीय जनता पार्टी ने कई गुना अधिक विकास किया है। उन्होंने कहा कि 1995 से पहले कांग्रेस शासन में और 1995 के बाद से भाजपा शासन में गुजरात के विकास में बहुत बड़ा बदलाव हुआ है। उन्होंने कहा कि पहले केवल दक्षिणी और उत्तरी गुजरात में ही डेयरी उद्योग विकसित था, नरेंद्र मोदी ने ही इसे सौराष्ट्र से लेकर कच्छ तक पहुंचाया है।
भाजपा अध्यक्ष ने गुजरात में भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि पहले राज्य की सहकारी संस्थाएं किसानों को 14 प्रतिशत ब्याज पर कृषिऋण उपलब्ध कराती थीं, आज केवल 1 प्रतिशत पर उन्हें ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पहले गुजरात पानी के संकट से लगातार जूझ रहा था, लेकिन नरेंद्रभाई मोदी के नेतृत्व में चेक डैम और विभिन्न सहकारी आयामों के माध्यम से तालाब, सुजलाम सुफलाम और नर्मदा योजना के तहत पानी को जनसुलभ बनाने के साथ-साथ राज्य के हर खेत तक पानी पहुंचाने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि 1995 से पहले और आज के गुजरात में कृषि उत्पादन में भारी बढ़ोतरी हुई है, 1995-96 में जहां राज्य में केवल 47 लाख मीट्रिक टन अनाज का उत्पादन होता था, वहीं 2017 में उत्पादन बढ़कर 63 लाख मीट्रिक टन पहुंच गया है, इसी तरह 1995 में फलों का उत्पादन जहां केवल 21 लाख मीट्रिक टन हुआ करता था, आज वह लगभग 86 लाख मीट्रिक टन हो गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने गुजरात में विकास की नई कहानी लिखी है। उन्होंने कहा कि कर्फ्यू मुक्त गुजरात बनाने का काम नरेंद्रभाई मोदी ने ही किया है, वाईब्रैंट गुजरात के माध्यम से राज्य में उद्योग और इंवेस्टमेंट लाने का काम नरेंद्रभाई मोदी ने ही किया है। अमित शाह ने कहा कि गुजरात में इसी प्रकार विजयभाई रूपाणी और नितिन भाई पटेल के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी लोगों की भलाई के लिए काम कर रही है, अब गुजरात का विकास डबल इंजन की गति से आगे बढ़ रहा है।
अमित शाह के संबोधन में गुजरात के विकास पर सर्वाधिक फोकस था। उन्होंने कहा कि चाहे साक्षरता दर हो, बिजली उत्पादन और उपभोग के आंकड़े हों, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट हो या फिर वाहनों की संख्या में इजाफा, हर क्षेत्र में नरेंद्र मोदी की अगुआई में गुजरात में विकास की एक नई मिसाल कायम की गई है। उन्होंने कहा कि गुजरात में भाजपा शासनकाल में इंजीनियरिंग सीटों में 14 गुना और मेडिकल सीटों में 7 गुना वृद्धि हुई है, यूनिवर्सिटीज़ की संख्या भी लगभग दोगुनी हुई है। उन्होंने कहा कि गुजरात में 1995-96 में प्रति व्यक्ति आय महज 13,665 रुपये थी, जो 2017 में आज बढ़कर 1,43,504 रुपये तक पहुंच गई है जो कि राष्ट्रीय औसत से कहीं अधिक है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को विकास के आंकड़े नहीं दिखते हैं और वह गुजरात के विकास का मजाक उड़ा रही है, आगामी विधान सभा चुनाव में गुजरात की जनता कांग्रेस को इसका भी जवाब देगी। उन्होंने कहा कि 1995 से लेकर 2017 तक कई क्षेत्रों में गुजरात प्रथम स्थान पर रहा है, जिसका श्रेय भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्रभाई मोदी को जाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में 13वें वित्त आयोग में गुजरात की सेंट्रल टैक्स में हिस्सेदारी 43,345 करोड़ थी, जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने गुजरात के लिए शेयर इन सेंट्रल टैक्स के रूप में 1,22,453 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की है। उन्होंने कहा कि गुजरात के ग्रांट इन ऐड को 84,86 करोड़ रुपये से बढ़ा कर 17,962 करोड़ और डिजास्टर रिलीफ को 2,081 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 2,920 करोड़ रुपये कर दिया गया है।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि लोकल बॉडीज ग्रांट के लिए कांग्रेस की यूपीए सरकार ने 13वें वित्त आयोग में गुजरात को केवल 2,723 करोड़ रुपये दिए थे, जबकि मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग में गुजरात को इस क्षेत्र में 15,042 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर जब केंद्र में कांग्रेस की यूपीए सरकार थी, तब गुजरात को विकास के लिए केवल 63,346 करोड़ रुपए मिलते थे, जबकि आज गुजरात को 1,58,377 करोड़ रुपये मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि रेवेन्यू हो, हाइवे हो या नर्मदा योजना, हर क्षेत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के लिए उल्लेखनीय काम किया है। उन्होंने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 56 साल पहले 1961 में सरदार सरोवर बांध की आधारशिला रखी थी, लेकिन उसे पूरा करने का काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है, जिससे गुजरात के हर खेत तक पानी पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को जवाब देना चाहिए कि कांग्रेस ने नर्मदा योजना को अवरुद्ध करने का पाप क्यों किया? जबकि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार ने गुजरात को न्याय, अधिकार और गौरव के साथ विकास दिया है। उन्होंने कहा कि 1995 से पहले के गुजरात और 1995 के बाद के गुजरात में विकास की गौरवगाथा समाई हुई है और यह पहले मुख्यमंत्री और अब प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी की ही देन है।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]