स्वतंत्र आवाज़
word map

वा‌शिंगटन में भारत-यूएस का सैन्य युद्धाभ्यास

भारतीय सेना की ओर से गोरखा राइफल्स की भागीदारी

आतंकवाद विरोधी कार्रवाईयों का किया कड़ा अभ्यास

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Saturday 16 September 2017 06:03:34 AM

indo-us military maneuvers in washington

वाशिंगटन/ लखनऊ। भारत और अमेरिका संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास-2017 का शुरूआती समारोह वाशिंगटन में ज्वाइंट बेस लेविस मैकोर्ड में आयोजित किया गया। समारोह की शुरूआत राष्ट्रगान 'जन गण मन' एवं 'द स्टार स्पैन्गल्ड बैनर' के साथ हुई। इस अवसर पर दोनों देशों के झंडे फहराए गए। भारतीय एवं अमेरिकी सैनिकों ने एक दूसरे के साथ खड़े होकर दोनों देशों के वरिष्ठ सैन्यधिकारियों को रस्मी सैल्यूट दिए। संयुक्त युद्धाभ्यास में अमेरिकी सेना की ओर से 20 इंफैंट्री रेजिमेंट की 5वीं इंफैंट्री बटालियन थी, जबकि भारतीय सेना की ओर से सूर्या कमान की 11 गोरखा राइफल्स की दूसरी बटालियन प्रतिनिधित्व कर रही है। सैन्य युद्धाभ्यास के दौरान अमेरिकी सेना के 7 इंफैंट्री डिविजन के जनरल ऑफीसर कमांडिंग मेजर जनरल विलर्ड एम बर्लेसन ने भारतीय सैनिकों का स्वागत करते हुए भारत और अमेरिका की इस प्रकार की साझेदारी को प्रजातंत्र, स्वतंत्रता, समानता एवं न्याय को दोनों देशों के लिए मूल्यवान बताया।
वाशिंगटन में दो सप्ताह तक चलने वाले सैन्य युद्धाभ्यास में अमेरिकी सेना और भारतीय सेना के सूर्या कमान की ओर से बराबर संख्या में सैन्य टुकड़ियां हिस्सा ले रही हैं। युद्धाभ्यास के दौरान संयुक्त राष्ट्र की मैंडेट के अनुसार जवाबी एवं आतंकवाद विरोधी कार्रवाईयों से निपटने की उनकी कार्यकुशलता और तकनीकी कौशल देखने को मिल रहा है। दोनों देश संयुक्त रूपसे किसी भी प्रकार के खतरों से निपटने के लिए एक सुविकसित कुशल ड्रिल को अमल में लाकर योजनाबद्ध तरीके से प्रशिक्षण लेंगे, ताकि जिसे संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के लिए आयोजित ऑपरेशनों में प्रयोग किया जा सके। दोनों देशों के सैन्य विशेषज्ञ पारस्परिक लाभ हेतु विविध विषयों पर एक-दूसरे के अनुभवों को साझा करने के लिए विचार-विमर्श भी करेंगे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]