स्वतंत्र आवाज़
word map

स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन लक्ष्य में फिसड्डी

विभागीय मंत्री नंदगोपाल ने दी कड़ी चेतावनियां

शासन के दिशा-निर्देशों की हुई घोर उपेक्षा

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Monday 11 September 2017 06:28:58 AM

stamp and registration minister nandgopal gupta nandi

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग अपने लक्ष्यों को समयानुसार हासिल नहीं कर पाया है, यह तब है, जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभागीय समीक्षाओं में इस विभाग के राजस्व वसूली लक्ष्य पर जोर दिया था और उत्तर प्रदेश के स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन तथा नागरिक उड्डयन मंत्री नंदगोपाल गुप्ता ‘नंदी’ ने भी इसकी सतत निगरानी की थी। विभागीय मंत्री ने आज समीक्षा बैठक की और लक्ष्य हासिल नहीं कर पाने पर गहरी नाराज़गी व्यक्त की। उन्होंने बिंदुवार समीक्षा की और पाया कि सरकार के दिशा-निर्देशों की घोर उपेक्षा की गई है। उल्लेखनीय है कि योगी सरकार ने अपने मंत्रियों की परफॉरमेंस की भी निगरानी शुरू कर दी है और उन मंत्रियों और सचिवों की कार्यप्रणाली पर कड़ी नज़र है, जिनका राजस्व से सीधे संबंध है।
नंदगोपाल गुप्ता ‘नंदी’ ने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आमजन को पारदर्शी एवं भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था के साथ-साथ न्यूनतम समय में विभाग की सेवाएं उपलब्ध हों। उन्होंने कहा कि प्रत्येक स्तर पर कार्यालयों में आधुनिक कार्यप्रणाली अपनाई जाए, विभाग अधिक से अधिक राजस्व प्राप्ति को बढ़ाने के उपाय सुनिश्चित करें। नंदगोपाल गुप्ता नंदी ने आज आईजी कैंप कार्यालय गोमतीनगर लखनऊ में विभागीय मासिक राजस्व समीक्षा बैठक में यह बात कही और साथ ही चेतावनी दी कि राजस्व प्राप्तियों के लक्ष्य में हो रही कमी को गम्भीरता से लिया जाएगा।
स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन मंत्री ने बैठक में कहा कि विभागीय अधिकारी कार्ययोजना बनाकर कार्य को सम्पादित करें। बैठक में बताया गया कि माह अगस्त 2017 में राजस्व लक्ष्य 1340 करोड़ रुपए का था, जिसके सापेक्ष कुल 1017.92 करोड़ रुपए की प्राप्ति हुई है, इस पर स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन मंत्री ने गहरी नाराज़गी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि बड़े वादों के निपटारे में अधिकारी प्रभावी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि राजस्व बढ़ाने के लिए अधिकारी स्थलीय निरीक्षण कर शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करें। बैठक में स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन की महानिरीक्षक कामिनी चौहान रतन भी मौजूद थीं, जिनकी ओर इशारा करते हुए विभागीय मंत्री ने उन्हें लक्ष्य पूरे करने को कहा।
नंदगोपाल नंदी ने स्टाम्प वाद शीघ्रता और गुणवत्तापरक रूपसे निपटाने एवं एक माह में सारे वाद, विभागीय पोर्टल पर अपलोड करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि बॉयोमैक्ट्रिस अटेंडेंस को शतप्रतिशत पूरा किया जाए, स्टाम्प वादों की नोटिस को जारी करने के लिए ऑनलाइन सिस्टम का प्रयोग किया जाए, ताकि पूरी पारदर्शिता से कार्यवाही सुनिश्चित हो सके। इस अवसर पर स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन की महानिरीक्षक कामिनी चौहान रतन, विशेष सचिव स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन प्रांजल यादव और बाकी अधिकारी मौजूद थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]