स्वतंत्र आवाज़
word map

भारत अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में विश्वनायक-मंत्री

श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष मिशन कार्यक्रम की समीक्षात्मक बैठक

तीन वर्ष में अंतरिक्ष पर हिंदुस्तान की अनेक उपलब्धियां

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Monday 11 September 2017 04:39:09 AM

dr. jitendra singh chairing a review meeting of space application center

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए मूलभूत मौलिक जानकारी प्रदान करने के लिए एवं आईएसआरओ श्रीहरिकोटा से प्रतिष्ठित अंतरिक्ष मिशन के लिए बहुउपयोगी सूचनाएं प्रदान करने के वास्ते स्पेस एप्लीकेशन सेंटर अहमदाबाद के बहुमूल्य योगदान की प्रशंसा की है। गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर डॉ जितेंद्र सिंह ने स्पेस एप्लिकेशन सेंटर के वैज्ञानिकों और एसएसी अहमदाबाद के निदेशक डॉ तपन मिश्रा के नेतृत्व में सविस्तार समीक्षात्मक बैठक की।
राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने युद्धनीति विषयक कार्य, आपदा प्रबंध, ऑप्टिकल ट्रांसीवर उपग्रह मोबाइल रेडियो इत्यादि के लिए, ओरिगेमी लैंस, स्वदेशी विकसित एमएमआईसी, एयरबॉर्न लो मास एक्स बैंड मिनी-एसएआर के संबंध में एसएसी की कुछ आधुनिकतम प्रौद्योगिकी पर विशेष प्रशंसात्मक टिप्पणी भी की। डॉ जितेंद्र सिंह ने अहमदाबाद स्पेस सेंटर और गुजरात राज्य में चल रहे कई अंतरिक्ष विज्ञान कार्यक्रमों का उल्लेख करते हुए कहा कि यह राज्य पहले से ही शिक्षा कार्यों के लिए अंतरिक्ष संचार के अधिकतम उपयोग में अग्रणी था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वही कार्य पूर्वोत्तर और पर्वतीय राज्यों के परिधीय क्षेत्रों तक प्रभावी रूपसे विस्तारित किए गए हैं। इस संबंध में उन्होंने भारत सरकार के अंतरिक्ष विभाग के साथ जम्मू एवं कश्मीर सरकार के शिक्षा विभाग में हस्ताक्षरित किए गए सहमति पत्र का उल्लेख किया।
अंतरिक्ष राज्यमंत्री ने कहा कि भारत अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में पहले से ही विश्वनायक बनकर उभरा है, इसने न केवल डॉ विक्रम साराभाई और डॉ सतीश धवन जैसे संस्थापकों के महान प्रयासों को प्रस्तुत किया है, बल्कि अन्य देशों के सामने एक उदाहरण भी प्रस्तुत किया है कि कैसे अंतरिक्ष विज्ञान को गैर स्पेस सैटलाइट मिशन कार्यक्रमों के लिए प्रयोग किया जा सकता है। राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार के तीन वर्ष के कार्यकाल के दौरान अंतरिक्ष विभाग अन्य मंत्रालयों के साथ सहमति ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर चुका है। इसने भारत सरकार के विभिन्न महत्वपूर्ण कार्यक्रमों जैसे स्मार्ट सिटी कार्यक्रम, जीईओ-एमएनआरईजीए, टेली एजुकेशन और टेली-मैडिसिन के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग को प्रभावी रूपसे योग्य बनाया है। बैठक में डॉ पीयूष वर्मा, डॉ डीके दास, राजीव ज्योति, सरकार एस और राज कुमार भी उपस्थित थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]