स्वतंत्र आवाज़
word map

पुलिस अनुसंधान ब्‍यूरो का नया मुख्‍यालय

यूपी के डीजीपी को केंद्रीय गृहमंत्री ने किया सम्‍मानित

बीपीआर एंड डी के 30 प्रतिशत भत्‍तों पर विचार

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Saturday 9 September 2017 04:50:10 AM

rajnath singh giving away the union home minister's medal for best police trainer

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पुलिस अनुसंधान और विकास ब्‍यूरो के नए मुख्‍यालय भवन का उद्घाटन किया और कहा कि बीपीआर एंड डी एवं एनबीसीसी के प्रयासों से इस परियोजना को समय से पूरा करने में सफलता मिली है। उन्‍होंने ब्‍यूरो के नए मुख्‍यालय भवन परिसर और यहां के सकारात्‍मक वातावरण की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे काम करने वालों को बेहतर प्रदर्शन की प्रेरणा मिलेगी। उन्‍होंने स्‍वीकार किया कि यहां प्रतिनियुक्ति पर कार्य कर रहे कुछ रैंकों के वेतन ढांचे में असंतुलन है, जिसे ठीक किए जाने की आवश्‍यकता है। गृहमंत्री ने कहा कि बीपीआर एंड डी ने अन्‍य प्रशिक्षण संस्‍थानों की तरह 30 प्रतिशत भत्‍तों की मांग की है, ताकि और भी अधिकारी इस संगठन को स्‍वेच्‍छा से अपना सकें, जिसपर गृह मंत्रालय विचार कर रहा है।
केंद्रीय गृहमंत्री ने सर्वश्रेष्‍ठ पुलिस प्रशिक्षक के लिए उत्‍तर प्रदेश के डीजीपी सुलखान सिंह को केंद्रीय गृहमंत्री पदक से सम्‍मानित किया। उन्‍होंने बीपीआर एंड डी के अधिकारियों एनपीएम के इंस्‍पेक्‍टर जनरल डॉ निर्मल कुमार आजाद, पीएसओ (डब्‍ल्‍यू) के संजय शर्मा, आर एंड सीए के सहायक निदेशक डॉ एस कार्तिकेयन, सीडीटीएस जयपुर के उपपुलिस अधीक्षक रनवीर सिंह गहलौत, सीडीटीएस हैदराबाद के सहायक सुधाकर देशमुख को पुलिस पदक से सम्‍मानित किया। बीपीआर एंड डी के महानिदेशक डॉ मीरन सी बोरवांकर ने भारतीय पुलिस के आधुनिकीकरण और अनुसंधान कार्यों के लिए बीपीआर एंड डी की उपलब्धियों की जानकारी दी। प्रशासन के निदेशक वीएच देशमुख ने बीपीआर एंड डी की विभिन्‍न पहलों के बारे में बताया। उन्‍होंने बताया कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ई-उस्‍ताद प्रशिक्षण ई-पोर्टल का उद्घाटन किया और पुलिस संगठन के 1 जनवरी 2017 तक के आंकड़ों पर एक खंड भी जारी किया है।
एनबीसीसी के महाप्रबंधक डॉ एके मित्‍तल ने नवनिर्मित भवन के बारे में जानकारी दी कि इसपर लगभग सौ करोड़ रुपए की लागत आई है, भवन में अत्‍याधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं, इसके आर्ट ऑडिटोरियम में ढाई सौ लोगों के बैठने की व्‍यवस्‍था है, यहां नौ छोटे और बड़े सम्‍मेलन कक्ष और हॉल बनाए गए हैं, भवन में साढ़े तीन लाख पुस्‍तकों से सुसज्जित आधुनिक पुस्‍तकालय का निर्माण किया गया है, हॉस्‍टल सुविधा मुहैया कराई गई है, जिसमें बड़ा रसोईघर और 52 दो सीटों वाले कमरों की व्‍यवस्‍था की गई है। बीपीआर एंड मुख्‍यालय पूरी तरह से वातानुकूलित है और हरित भवन के प्रतिमानों के अनुसार बनाया गया है, यहां पर वर्षा के पानी के संग्रहण की प्रणाली लगाई गई है, इस परिसर में पर्याप्‍त हरियाली है। बीपीआर एंड डी में एनसीआरबी ब्‍लॉक सहित पांच सौ कर्मचारियों से भी अधिक लोग हैं, इनके लिए आधुनिक वर्क स्‍टेशन बनाए गए हैं। कार्यक्रम में पुद्दुचेरी की उपराज्‍यपाल डॉ किरण बेदी, गुप्‍तचर ब्‍यूरो के निदेशक राजीव जैन, सीपीओ और सीएपीएफ के प्रमुख एवं गणमान्‍य नागरिक उपस्थित थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]