स्वतंत्र आवाज़
word map

अत्‍याधुनिक प्रौद्योगिकी अपनाएं-प्रधानमंत्री

मृदा स्वास्‍थ्य कार्डों के वितरण का पहला चक्र पूरा हुआ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की फसल बीमा की समीक्षा

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Tuesday 22 August 2017 06:44:17 AM

pm reviews the progress of soil health cards and pradhan mantri fasal bima yojana

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि क्षेत्र से जुड़ी दो प्रमुख परियोजनाओं-मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में प्रगति की समीक्षा की, जिसमें उनको यह जानकारी दी गई कि 16 राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों में मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्डों के वितरण का पहला चक्र पूरा हो गया है और शेष राज्‍यों में कुछ सप्‍ताह में पूरा हो जाने की संभावना है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सेम्‍पलिंग ग्रिड में और विभिन्‍न मृदा जांच प्रयोगशालाओं में होने वाले अंतर के लिए समुचित जांच की जानी चाहिए, इससे रिपोर्ट की गुणवत्‍ता सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर देते हुए कहा कि मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्डों की छपाई क्षेत्रीय भाषा में की जानी चाहिए, ताकि किसान उन्‍हें आसानी से पढ़ने और समझने में सक्षम हो। अत्‍याधुनिक प्रौद्योगिकी को शीघ्र अपनाए जाने पर बल देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि संयोगवश मिट्टी की जांच तो बहुत ही हल्‍के उपकरणों से संभव है, जिन्‍हें हाथों में लेकर भी चला जा सकता है। उन्‍होंने अधिकारियों से यह कहा कि वे इस बात की संभावना तलाशें, ताकि इस कार्य में स्‍टार्टअप और उद्यमिता को शामिल किया जा सके।
प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में बताया गया कि वर्ष 2016 के खरीफ मौसम में और 2016-17 के रबी मौसम में 7700 करोड़ रुपए से अधिक मूल्‍य के दावे का भुगतान किया जा चुका है और इससे 90 लाख से अधिक किसान लाभांवित हुए हैं। कृषि क्षेत्र से जुड़ी प्रगति की समीक्षा बैठक में अधिकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया कि फसल बीमा के दावे से संबंधित आंकड़े जल्‍द-से-जल्‍द संग्रह करने के काम में स्‍मार्ट फोन, दूरसंवेदी उपकरणों, उपग्रह आंकड़े और ड्रोन सहित अत्‍याधुनिक प्रौद्योगिकी का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। समीक्षा बैठक में कृषि मंत्रालय, नीति आयोग और प्रधानमंत्री कार्यालय के वरिष्‍ठ अधिकारी उपस्‍थित थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]