स्वतंत्र आवाज़
word map

ग्रामीण क्षेत्रों में सूचना क्रांति की गति तीव्र

भारतनेट योजना से होगा ग्रामीण क्षेत्रों का विकास

मुख्यमंत्री योगी से मिलीं अरुणा सुंदरराजन

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Saturday 12 August 2017 06:44:27 AM

aruna sundararajan met with chief minister yogi

लखनऊ। भारत सरकार के संचार मंत्रालय में सचिव अरुणा सुंदरराजन ने कल शास्त्रीभवन लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। अरुणा सुंदरराजन ने उत्तर प्रदेश में केंद्र सरकार के भारतनेट प्रोजेक्ट की प्रगति की जानकारी मुख्यमंत्री को देते हुए बताया कि प्रथम चरण में उत्तर प्रदेश के 72 जनपद के 442 ब्लॉक के तहत 27,974 ग्राम पंचायत में भारतनेट के तहत ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी उपलब्ध कराए जाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि योजना के प्रथम चरण में यूपी ईस्ट के तहत आने वाले 48 जनपद के 227 ब्लॉक की 15,623 ग्राम पंचायत में 30,293 किलोमीटर लंबा ऑप्टिक फाइबर केबिल बिछाया जा चुका है, जबकि यूपी वेस्ट के 24 जनपद के 128 ब्लॉक की 7,826 ग्राम पंचायत में 15,350 किलोमीटर लंबा ऑप्टिक फाइबर बिछाया जा चुका है, इस प्रकार उत्तर प्रदेश के 72 जनपद के 355 ब्लॉक की 23,449 ग्राम पंचायत को जोड़ने के लिए ओएफसी बिछाने का काम पूरा किया जा चुका है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस मौके पर कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के निवासियों को सक्षम बनाने, सूचनाओं के त्वरित आदान-प्रदान और डिजिटल इंडिया के तहत गांवों को लाभांवित करने की दृष्टि से यह योजना अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि भारतनेट योजना के त्वरित क्रियांवयन से ग्रामीण क्षेत्रों में सूचना क्रांति आएगी और उनके विभिन्न कार्य त्वरितगति से हो सकेंगे। उन्होंने इस प्रोजेक्ट को तेजी से पूर्ण करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि राज्य सरकार इस प्रोजेक्ट के शीघ्र पूरा होने के लिए अपनी ओर से हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराएगी।
संचार मंत्रालय में सचिव अरुणा सुंदरराजन ने जीपीओएन इंस्टालेशन और कमीशनिंग के बारे में बताया कि यूपी ईस्ट तथा यूपी वेस्ट में जीपीओएन सप्लाई, इंस्टालेशन तथा इंटीग्रेशन के लिए आवश्यक कार्रवाई त्वरितगति से की जा रही है। इस प्रोजेक्ट के तहत उन्होंने ग्राम पंचायतों में जगह की उपलब्धता के विषय में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराया। उन्होंने इसके तहत यूटीलाइज़ेशन और सर्विस प्रोवीजनिंग के विषय में भी उनको जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि भारतनेट योजना के माध्यम से केंद्र सरकार दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों तक इंटरनेट कनेक्टिविटी देकर डिजिटल इंडिया के विजन को पूरा करना चाहती है, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को ई-गवर्नेंस, ई-हेल्थ, ई-एजुकेशन, ई-बैंकिंग तथा इंटरनेट और अन्य सुविधाएं मिल सकें।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]