स्वतंत्र आवाज़
word map

लोगों से संपर्क में स्थानीय बोली में कंटेंट जरूरी

सूचनाओं के प्रसारण में नए मीडिया से लाभ उठाएं-वेंकैया

अफगान-पाकिस्तान हेतु लगेंगे डिजिटल ट्रांसमीटर

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Saturday 8 July 2017 01:36:09 AM

m. venkaiah naidu at a review meeting of the media units

नई दिल्ली। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने केंद्रशासित प्रदेशों में अवस्थित सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की मीडिया इकाइयों की समीक्षा बैठक में कहा है कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत सरकार राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ पूरी सक्रियता के साथ काम कर रही है, ताकि संचार एवं पहुंच के क्षेत्र में आपसी सहयोग बढ़ सके। उन्होंने कहा कि लोगों से उनकी अपनी भाषा में संपर्क साधने के लिए भारतीय भाषाओं और स्थानीय बोलियों में कंटेंट तैयार करने हेतु केंद्र एवं राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के बीच सहयोग अत्यंत जरूरी है। वेंकैया नायडू ने कहा कि बदलते संचार आयाम के साथ तालमेल बैठाने के लिए सूचनाओं के प्रसारण में अभिनव तरीके अपनाना और नए मीडिया से लाभ उठाना आवश्यक है।
सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने केंद्रशासित प्रदेशों से सहयोग देने की गुजारिश करते हुए केबल टीवी अधिनियम का कारगर क्रियांवयन सुनिश्चित करने की जरूरत पर विशेष बल दिया, ताकि आपत्तिजनक सामग्री और अनधिकृत चैनलों के प्रसारण पर पाबंदी लगाई जा सके। उन्होंने केंद्रशासित प्रदेशों से ऐसे नोडल अधिकारी नियुक्त करने का अनुरोध किया है, जो केंद्रशासित प्रदेशों में इस कार्य को पूरा करने में जिला कलेक्टरों की सहायता कर सकें। समीक्षा बैठक में वेंकैया नायडू ने घोषणा की कि आकाशवाणी की ओर से अगस्त 2017 के आखिर तक अफगानिस्तान-पाकिस्तान क्षेत्र के लिए सीमा पार कंटेंट के प्रसारण हेतु 100-100 किलोवाट के दो नए शॉर्टवेव सॉलिड स्टेट डिजिटल ट्रांसमीटर लगाए जाएंगे, ये ट्रांसमीटर दिल्ली में लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पहुंच बढ़ाने के लिए दमन में लगे 3 किलोवाट के एफएम ट्रांसमीटर के स्थान पर 6 किलोवाट का ट्रांसमीटर लगाया जाएगा।
वेंकैया नायडू ने स्थानीय बोलियों में संपर्क के महत्व पर केंद्रशासित प्रदेशों से अनुरोध किया कि वे अपने यहां सामुदायिक रेडियो स्टेशनों की स्थापना पर विशेष जोर दें। उन्होंने इस संबंध में हितधारकों के लिए केंद्र सरकार की ओर से 75 फीसदी की उदार सब्सिडी दिए जाने का भी उल्लेख किया। वेंकैया नायडू ने यह बात दोहराई की कि सरकार सहकारी संघवाद में विश्वास करती है, विकास की नई गाथा लिखने के लिए केंद्र और राज्य एवं केंद्रशासित प्रदेशों को टीम इंडिया के रूप में काम करने की जरूरत है। सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री कर्नल राज्यवर्धन राठौर भी इस मौके पर मौजूद थे। उन्होंने जान‌कारी दी कि सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके केबल ऑपरेटरों या चैनलों से प्रसारित किए जाने वाले कंटेंट की निगरानी की जा सकती है। इससे पहले सूचना एवं प्रसारण सचिव ने केंद्रशासित प्रदेशों के अधिकारियों, मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों और मीडिया इकाइयों के प्रमुखों के साथ समीक्षा बैठक में संबंधित मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। बैठक में अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल प्रोफेसर जगदीश मुखी, सूचना एवं प्रसारण सचिव एनके सिन्हा, केंद्रशासित प्रदेशों के प्रतिनिधि और मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]