स्वतंत्र आवाज़
word map

शिवाजी व झलकारी की प्रतिमा के दिन बहुरे

अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा ने अनुरक्षण कराया

आगरा में प्रतिमाओं की उपेक्षा से क्षुब्‍ध थे राज्यपाल

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Saturday 6 May 2017 07:16:44 AM

governor ram naik and vice chancellor dr. arvind dixit

आगरा/ लखनऊ। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आगरा किले के पास छत्रपति शिवाजी एवं झलकारी बाई की प्रतिमा का निरीक्षण किया। इससे पूर्व के आगरा भ्रमण पर राज्यपाल ने यह पाया था कि शिवाजी की प्रतिमा का उचित रख-रखाव नहीं हो रहा है, उनके सुझाव पर डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के होटल एवं पर्यटन प्रबंधन विभाग ने दोनों प्रतिमाओं को गोद लेने का निर्णय लिया था। राज्यपाल ने आगरा भ्रमण से लौटते समय कुलपति डॉ अरविंद दीक्षित के साथ जाकर दोनों प्रतिमाओं का पुनः निरीक्षण किया तथा विश्वविद्यालय द्वारा प्रतिमाओं के रख-रखाव की सराहना की।
राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि कुछ राष्ट्र नायक ऐसे होते हैं, जिनसे पूरा देश प्रेरणा प्राप्त करता है, छत्रपति शिवाजी के जीवन से सभी को प्रेरणा मिलती है। उन्होंने कहा कि आध्यात्मिक मूल्यों के प्रति शिवाजी की गहरी आस्था थी, बच्चों और महिलाओं के प्रति उनका आचरण अनुकरणीय था। उन्होंने कहा कि झलकारीबाई का प्रथम स्वाधीनता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान रहा है, वे रानी लक्ष्मीबाई की महिला सेना शाखा दुर्गादल की सेनापति थीं। उन्होंने कहा कि ऐसी वीरांगना हमारी नई पीढ़ी के लिए प्रेरणा का प्रकाश पुंज हैं। राज्यपाल ने प्रतिमा पर जाकर आदरांजलि भी अर्पित की।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]