स्वतंत्र आवाज़
word map

भाजपा का स्वर्णिम युग आना अभी बाकी-शाह

भुवनेश्वर में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

ओडिशा में भी इस बार भाजपा का कमल खिलेगा

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Sunday 16 April 2017 12:44:28 AM

bjp national president amit shah in odisha

भुवनेश्वर (ओडिशा)। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने देश के और राज्यों की तरह ओडिशा में भी कमल खिलने की आशा जताते हुए ओडिशा की जनता को भाजपा सरकार के सपने दिखाए। उन्होंने कहा है कि पांच राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की अभूतपूर्व विजय का मुख्य कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता, गरीब के कल्याण की उनकी नीति को नीचे तक पहुंचाने की कार्ययोजना और भाजपा कार्यकर्ताओं का अथक परिश्रम है। भुवनेश्वर में जनता मैदान में आयोजित भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के उद्घाटन उद्बोधन में अमित शाह ने कहा कि इन चुनावों में भाजपा की शानदार जीत से देश में जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टीकरण की राजनीति का अंत हुआ है और ‘पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस’ के नए युग की शुरुआत हुई है। उन्होंने कहा कि 2014 के बाद जितने भी चुनाव, उपचुनाव अथवा स्थानीय निकायों के चुनाव हुए हैं, उनमें हर जगह भारतीय जनता पार्टी ने अभूतपूर्व जीत दर्ज की है, जो भाजपा के दिनोंदिन बढ़ते जनाधार और भाजपा के राष्ट्रवाद में देश की जनता की गहरी होती आस्था का द्योतक है।
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि भाजपा की लगातार जीत से देश में विपक्षी दल बौखलाए हुए हैं, उनके पास कोई मुद्दा ही नहीं है, इसलिए वे रह-रह कर ईवीएम पर ही आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने विपक्ष पर सवाल उछाला कि क्या यूपीए-1 और यूपीए-2 की जीत ईवीएम से नहीं हुई थी? क्या दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बैलेट पेपर से चुनकर आई थी? और क्या अभी पंजाब में कांग्रेस की जीत ईवीएम के कारण हुई है? अमित शाह ने कहा कि मई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी सरकार के तीन साल पूरे हो जाएंगे, इन वर्षों में मोदी सरकार ने इतने सारे काम किये हैं कि कई सरकारें इनमें से एक भी काम अपने पूरे कार्यकाल तक पूरा नहीं कर पातीं। अमित शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का स्वर्णिम युग आना अभी बाकी है और यह स्वर्णिम युग तभी आएगा जब केरल, बंगाल, तमिलनाडु और उत्तर-पूर्व के राज्यों में भी भाजपा सरकार बनेगी और कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक एवं कच्छ से लेकर कामरूप तक भाजपा संगठन का विस्तार होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि इन तीन साल में हम पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं है, हमारे विरोधी भी हम पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा सके हैं।
अमित शाह ने कहा कि जब देश आजादी की 75वीं वर्षगाँठ मना रहा होगा, तब देश कैसा हो, इसके विकास का मॉडल कैसा हो, इस सोच के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यू इंडिया की परिकल्पना को देश के सामने रखा है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश को पॉलिसी पैरालिसिस से मुक्ति मिली है, लोगों को अच्छे लगने वाले फैसले नहीं, बल्कि लोगों के लिए अच्छे फैसले लिए जाने की जरूरत है और मोदी सरकार ऐसे ही निर्णायक फैसले ले रही है। अमित शाह ने बैठक में कहा कि भाजपा केरल, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हिंसात्मक हमले की कड़ी निंदा करती है। उन्होंने कहा कि यदि इन राज्यों में सत्ताधारी पार्टियां यह सोचती हैं कि वह हिंसा के जरिये भाजपा के विचारों को विस्तारित करने से रोकने में सफल हो जाएंगी तो यह उनकी भूल है, भाजपा और अधिक मजबूती के साथ इन राज्यों में उभर कर आयेगी। उन्होंने कहा कि शुंगलू कमिटी की रिपोर्ट में जो सच्चाई सामने आई है, उससे यह स्पष्ट होता है कि राजनीतिक शुचिता का इससे बड़ा उल्लंघन और कोई नहीं हो सकता।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हम जनता को विश्वास दिलाना चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी केवल और केवल देश के विकास के लिए काम करेगी और भारत को एक बार फिर से ‘विश्वगुरु’ के पद पर प्रतिष्ठित करने का काम करेगी। अमित शाह ने उद्बोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामकाज और भाजपा विस्तार के कार्यक्रमों पर विस्तार से चर्चा की। अमित शाह ने महाप्रभु भगवान जगन्नाथ की पावन भूमि को नमन करते हुए भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की शुरूआत की। उन्होंने कहा कि भाजपा की दिल्ली में हुई पिछली राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक से अब तक के तीन महीने में देश में बहुत बड़े स्तर पर राजनीतिक बदलाव हुआ है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भाजपा को अप्रत्याशित सफलता प्राप्त हुई है, खूब वोट मिला। गोवा और मणिपुर में भी पार्टी को सबसे अधिक वोट मिला है। उन्होंने इस अभूतपूर्व विजय पर भाजपा कार्यकारिणी के सदस्यों से अपने स्थान पर खड़े होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का करतल ध्वनि से स्वागत करने की अपील की। सभी सदस्यों ने अपने स्थान पर खड़े होकर प्रधानमंत्री का जोरदार स्वागत किया।
राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि भारतवासियों के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण जीएसटी विधेयक दोनों सदनों में पारित हुआ, जो एक राष्ट्र, एक टैक्स की दिशा में एक ऐतिहासिक कदम है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पहली बार समाज के ऐसे गुमनाम मनीषियों, समाजसेवियों और बुद्धिजीवियों को पद्म पुरस्कार दिए गए हैं, जिन्होंने देश और समाज के लिए कई अकल्पनीय कार्य किये हैं, सही मायनों में पद्म पुरस्कारों का जनतांत्रिककरण किया गया है, जो कि एक अनूठी पहल है। उन्होंने कहा कि अब पद्म पुरस्कारों के लिए कोई भी व्यक्ति स्वयं ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, इसकी वैज्ञानिक तरीके से जांच होगी और फिर पुरस्कारों के लिए उपयुक्त नाम फाइनल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि इस बार की पद्म पुरस्कारों की सूची का एनालिसिस किया जाए तो पता चलेगा कि देश में कितना बड़ा बदलाव आया है। अमित शाह ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार किसी गैर-कांग्रेसी दल को अपने दम पर पूर्ण बहुमत मिला है, महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, अरुणाचल प्रदेश, असम, उत्तर प्रदेश, गोवा, उत्तराखंड, मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें बनीं, बिहार और दिल्ली में भी हमारे वोट प्रतिशत में वृद्धि हुई है।
उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव परिणाम पर भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि राज्य में पहली बार सपा-बसपा के सरकार में आने का क्रम टूटा है और जातिवाद, परिवारवाद एवं तुष्टीकरण की राजनीति का अंत हुआ है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के लिए भाजपा ने कहा था कि इस प्रदेश को श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी ने बनाया है और मोदीजी इसे संवारेंगे-इसे राज्य की जनता ने ह्रदय से स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि विजय की यह भूख और बढ़नी चाहिए, ताकि हम अथक पुरुषार्थ से प्रेरणा लेकर और अधिक तत्परता के साथ काम करने के लिए कृतसंकल्पित हों। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन गया है, प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष करों के कनेक्शन में वृद्धि हुई है, डिमोनेटाईजेशन से काले-धन के संग्रह पर अंकुश लगा है, टैक्सेशन को पारदर्शी बनाया गया है, राजनीतिक चंदों को 2000 कैश तक सीमित करके चंदे की प्रक्रिया को भी पारदर्शी बनाने की पहल की गई है। उन्होंने कहा कि चाहे बेनामी संपत्ति पर क़ानून की बात हो, शत्रु संपत्ति पर कार्रवाई की बात हो या फिर शेल कंपनियों के खिलाफ मुहिम की बात हो एनडीए सरकार ने हर मोर्चे पर सुधार कार्यक्रम की नींव रखी है।
अमित शाह ने एनडीए की अनेक योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि नीति आयोग से फेडरल स्ट्रक्चर को मजबूत बनाने का काम किया गया है, बजट की प्रक्रिया को 31 मार्च से पहले ही पूरा करके एक अप्रैल से बजट के प्रावधानों को लागू करने की शुरुआत करके एनडीए सरकार ने एक नया मानदंड स्थापित किया है, रेल बजट को आम बजट में समायोजित करके विकास की गति को तेज करने के प्रयास किए गए हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में ठोस पहल करते हुए डेढ़ साल में ही लगभग दो करोड़ गरीब महिलाओं को गैस कनेक्शन उपलब्ध कराए गए हैं, जन-धन योजना के अंतर्गत लगभग 29 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट खोलकर उन्हें देश के अर्थतंत्र की मुख्यधारा से जोड़ा गया है, मुद्रा बैंक के माध्यम से देश के लगभग 7.32 करोड़ लोगों को रोज़गार के नए अवसर उपलब्ध कराये गए हैं, भीम ऐप की शुरुआत कर देशभर में डिजिटलाइजेशन को बढ़ावा दिया गया है और आजादी के 70 साल बाद भी बिजली से वंचित 18000 गाँवों में से 13000 गाँवों में बिजली पहुंचाने का काम पूरा किया गया है। अमित शाह ने कहा कि किसानों की भलाई के लिए एनडीए सरकार ने कई काम किए हैं, सैनिकों की चालीस वर्ष से लंबित ओआरओपी को एक साल में लागू कर दिया गया।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पेरिस समझौते में पर्यावरण को बचाने की हमारी प्रतिबद्धता को भी दुनियाभर में सराहा गया है। उन्होंने कहा कि 2022 के लक्ष्य को पूरा करने के लिए अभी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी जुट गई है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि 2019 में फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राजग की सरकार बनेगी और हम जनता की भलाई के लिए अहर्निश काम करेंगे। उन्होंने कहा कि यह वर्ष पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्म शताब्दी वर्ष है, जिसे भाजपा बड़े पैमाने पर मना रही है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष में भाजपा संगठन के विस्तार और विकास के लिए लाखों कार्यकर्ताओं ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है, जो काफी उत्साहवर्द्धक है, मैं स्वयं इसमें अपनी भागीदारी दूंगा एवं विभिन्न राज्यों में बूथ स्तर पर प्रवास करूंगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि हिमाचल, गुजरात और कर्नाटक में भी अबकी बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी। अमित शाह ने कहा कि केरल, बंगाल, तमिलनाडु, त्रिपुरा, तेलंगाना और नार्थ-ईस्ट के राज्यों में भी हमें भाजपा को मजबूत करने की जरूरत है और जहां हम चूक गए हैं, वहां हम और मजबूती के साथ कमल ही कमल खिलाएंगे।
ओडिशा में बीजू जनता दल की सरकार पर कड़ा प्रहार करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि ओडिशा में 20 साल से बीजद की सरकार है और जहां भारतीय जनता पार्टी शासित राज्य लगातार विकास की नई कहानियां लिख रहे हैं, वहीं ओडिशा विकास के हर मापदंड में काफी पीछे है। उन्होंने कहा कि यहां न तो लोगों को शुद्ध पीने का पानी मिल रहा है और न लोगों को बिजली मिल रही है, शिक्षा व स्वास्थ्य की मूलभूत सुविधा भी नहीं है। उन्होंने कहा कि ओडिशा में बूथ से लेकर प्रदेश तक 2015-17 तक यहां के भाजपा कार्यकर्ताओं ने कठिन संघर्ष किया है, इसके बेहतर परिणाम भी मिलने लगे हैं। उन्होंने कहा कि मैं ओडिशा के प्रदेश अध्यक्ष एवं संगठन की पूरी टीम को परिश्रम से कार्य करने के लिए ह्रदय से बधाई देता हूं। अमित शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आज विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है, जिसके भारत के 17 प्रदेशों में भाजपा एवं भाजपा गठबंधन की सरकारें हैं, तीन सौ से अधिक सांसद हैं, सत्रह सौ से अधिक विधायक हैं, देश की लगभग 60 प्रतिशत आबादी और 70 प्रतिशत भू-भाग पर हम जनता की सेवा कर रहे हैं।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]