स्वतंत्र आवाज़
word map

'कार्यस्थल पर महिलाओं को प्रोत्साहन'

लोक शिकायत एवं कार्मिक मंत्रालय की कार्यशाला

पीएमओ राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह का संबोधन

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Thursday 9 March 2017 12:00:11 AM

dr. jitendra singh in a group photograph with the woman employees

नई दिल्ली। केंद्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय में स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री, प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा एवं अंतरिक्ष राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा है कि कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने कार्यस्थल पर महिलाओं को प्रोत्साहित करने एवं सहायता प्रदान करने के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं। डॉ जितेंद्र सिंह अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय की कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। कार्यशाला में माउंट एवरेस्ट की चोटी पर दो बार सफलतापूर्वक चढ़ने वाली भारतीय पर्वतारोही संतोष यादव भी उपस्थित थीं।
डॉ जितेंद्र सिंह ने इस अवसर पर कहा कि महिला दिवस, महिलाओं के संकल्प और उनकी ताकत का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि एक महिला न केवल अपनी देखभाल करती है, बल्कि परिवार और पूरे समाज की देखभाल करती है, इसलिए महिलाओं का समाज में एक महत्वपूर्ण स्थान है। पीएमओ राज्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं ने उद्योग जगत, राजनीति एवं अन्य क्षेत्रों समेत विभिन्न क्षेत्रों में काफी कुछ अर्जित किया है, ये महिलाएं प्रथम पीढ़ी की अचीवर्स हैं, क्योंकि उनके पास ऐसी कोई पृष्ठभूमि नहीं थी, जिससे उन्हें कोई अतिरिक्त लाभ प्राप्त हो सकें। उन्होंने कहा कि यह विकास और प्रथम पीढ़ी के अचीवर्स की प्रगति में आने वाली पीढ़ियों के लिए एक मिसाल बनेगी।
पीएमओ राज्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने महिलाओं के कल्याण एवं सशक्तिकरण के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं। राज्यमंत्री ने कामकाजी महिला केंद्रित कदमों पर रोशनी डालते हुए कहा कि सरकार ने कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न बचाव, निषेध एवं समाधान अधिनियम में सुविचारित एवं सख्त प्रावधान शामिल किए हैं। उन्होंने कहा कि इस कानून के तहत यौन उत्पीड़न के दायरे को भी विस्तारित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए मातृत्व अवकाश को तीन महीने से बढ़ाकर छह महीने कर दिया गया है, जिससे कि वे अपनी और अपने बच्चे की बढ़िया देखभाल कर सकें। अपने अनुभव को साझा करते हुए पर्वतारोही संतोष यादव ने कहा कि खुद में विश्वास और सकारात्मक दृष्टिकोण जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीज है और हमें हमेशा सकारात्मक तरीके से सोचना चाहिए और जीवन में किसी भी समस्या के समाधान के लिए संकल्प और ईमानदारी का परिचय देना चाहिए।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]