स्वतंत्र आवाज़
word map

राज्यपाल ने की एनएसएस टीम सम्मानित

एनएसएस टीम का राष्ट्रीय परेड में विशिष्ट प्रदर्शन

देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज में कार्यक्रम

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Wednesday 8 March 2017 11:19:36 PM

governor honors nss team

हरिद्वार। राज्यपाल डॉ कृष्‍णकांत पॉल ने देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज हरिद्वार की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के समन्वयक डॉ अरुणेश पाराशर और एनएसएस के स्वयंसेवियों को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन, राष्ट्रीय परेड एवं अनुकरणीय सेवा कार्यों के लिए सम्मानित किया। एनएसएस के अंतर्गत राष्ट्रीय जागरूकता कार्यक्रमों को बढ़ाने एवं उत्तराखंड के ग्रामीण इलाकों में रचनात्मक सेवा कार्य चलाने में देव संस्कृति विश्वविद्यालय ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। डॉ अरूणेश पाराशर एवं उनकी टीम ने राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया है।
राष्ट्रीय परेड से लौटी एनएसएस स्वयंसेवी कुमारी प्राची अग्रवाल, गौतम कुमार एवं मनोज कुमार को राष्ट्रीय परेड में विशिष्ट योगदान हेतु राज्यपाल डॉ कृष्‍णकांत पॉल ने प्रशस्ति पत्र एवं मेडल देकर सम्मानित किया। प्रधानमंत्री कार्यालय से उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए इस पूरे दल को विशेष रूप से शुभकामनाएं मिलने पर राज्यपाल ने दल को बधाई दी। राज्य राष्ट्रीय सेवा योजना अधिकारी डॉ विनोद कुमार ने विश्वविद्यालय के विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड राज्य में एनएसएस के अंतर्गत देसंविवि राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान रखता है। कार्यक्रम में जिला समन्वयक एसपी सिंह, क्षेत्रीय केंद्र लखनऊ से आए जमुना प्रसाद एवं यूकॉस्ट से जुड़े डॉ प्रशांत सिंह उपस्थित थे।
सम्मान समारोह से लौटने के बाद एनएसएस के कार्यकर्ताओं ने कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या से भेंटकर उनका आशीर्वाद लिया। डॉ प्रणव पण्ड्या ने इस अवसर पर कहा कि सेवा का कोई भी क्षेत्र हो, विश्वविद्यालय के शिक्षक एवं विद्यार्थी पूरे मनोयोग के साथ आगे बढ़ते हैं। उन्होंने कहा कि यहां भारतीय संस्कृति एवं ऋषियों की सेवाभाव से प्रेरित होकर कार्य किए जाते हैं। प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपिता युगऋषि पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य की कर्मभूमि से सबको प्रेरक कार्य करने की प्रेरणा मिलती रहती है। प्रतिकुलपति ने कहा कि जीवन में जितना हो सके, शुभ कार्यों से देव संस्कृति विश्वविद्यालय के माध्यम से विभिन्न रचनात्मक गतिविधियों को प्रोत्साहित करना युवा क्रांति वर्ष-2017 का लक्ष्य है।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]