स्वतंत्र आवाज़
word map

अखिलेश नए भारत की तकदीर-अजीज कुरैशी

उत्तर प्रदेश में सपा-कांग्रेस गठबंधन जिताने की अपील

डॉ अंबेडकर के प्रपौत्र राजरत्न भी हुए सपा के साथ

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Monday 13 February 2017 05:06:29 AM

sp-congress alliance in uttar pradesh to win appeal

लखनऊ। उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी ने सपा और कांग्रेस गठबंधन को उत्‍तर प्रदेश में शानदार जीत दिलाने की अपील करते हुए भाजपा एवं बसपा पर करारा प्रहार किया है। उन्होंने कहा कि अंधेरे की ताकतें सच के सूरज को ढकने की नाकाम कोशिशें कर रही हैं। अजीज कुरैशी ने उत्तर प्रदेश में मुसलमानों के सपा की ओर इस बार भी भारी झुकाव का विश्वास व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मुस्लिमों की समस्याओं के प्रति बहुत संवेदनशील हैं, वे मुलायम सिंह यादव से भी ज्यादा मुस्लिमों के पक्षधर हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में नए भारत की तकदीर बनेगी। अजीज कुरैशी ने कहा कि भाजपा-बसपा के लोग जनता को गुमराह करने के लिए भ्रामक प्रचार करते हैं, इनका काम समाज को जाति-धर्म में बांटना और सामाजिक सद्भाव बिगाड़ना है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और समाजवादी धर्मनिरपेक्ष दल हैं, उनकी विचारधारा लोगों को जोड़ने की है, इसलिए मैं समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन के प्रत्याशियों को जिताने की अपील कर रहा हूं।
समाजवादी पार्टी मुख्यालय पर पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी की प्रेस कांफ्रेंस हुई, जिसमें डॉ अंबेडकर के प्रपौत्र राजरत्न अशोक अंबेडकर, जनता दल (यू) के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश निरंजन भैयाजी भी मौजूद थे। इन नेताओं ने भी कहा कि सांप्रदायिक तत्वों के मंसूबों को ध्वस्त करने के लिए उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी का जीतना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस के इशारे पर दलितों और अल्पसंख्यकों के साथ अन्याय हो रहा है। बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर के प्रपौत्र राजरत्न अशोक अंबेडकर ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार के इरादे संविधान पर हमला करने के हैं, मतदाताओं को गुमराह करने के लिए भाजपा नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केवल हवाई वादे कर रहे हैं, पूरे देश में दलित एवं पिछड़े उनके निशाने पर हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा संविधान खत्म कर मुनस्मृति लागू करना चाहती है, वे उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी को समर्थन दे रहे हैं क्योंकि बसपा-भाजपा एक ही हैं, एक को वोट देना दूसरे को वोट देना है। उन्होंने कहा कि बसपा में अंबेडकर-काशीराम के मिशन को कमीशन में बदल दिया गया है, जबकि अखिलेश यादव की सोच मिशनरी है।
जनता दल (यू) के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश निरंजन भैयाजी ने कहा कि धर्मनिरपेक्ष मतों के बिखराव को रोकने के लिए जनता दल (यू) चुनाव नहीं लड़ रहा है, भाजपा को रोकना सभी धर्मनिरपेक्ष दलों का दायित्व है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कामों से प्रदेश में खुशहाली आएगी, इसलिए जनता दल (यू) पुनः अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने के लिए उन्हें अपना समर्थन और सहयोग दे रहा है। इलाहाबाद के भारतीय जनता पार्टी (काशीप्रांत) के सदस्य तथा अखिल भारतीय जायसवाल महासभा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष पदुम नारायण जायसवाल अपने साथियों के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हुए। उनके साथ पूर्व पार्षद विजय वैश्य, दिलीप चौरसिया आदि भी भाजपा छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हुए। हुए। उन्होंने कहा कि भाजपा में कार्यकर्ताओं का कोई सम्मान नहीं है, वह पूंजीपतियों के हाथों बिक गई है। भाजपा और बसपा छोड़कर आए कैसरगंज बहराइच के पूर्व ब्लाक प्रमुख रणवीर सिंह तथा अवधेश वर्मा, प्रधान, बीडीसी समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। चेयरमैन गन्ना विकास समिति के लालबहादुर सिंह भी समाजवादी पार्टी से जुड़ गए हैं।
समाजवादी पार्टी को तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं और सामाजिक संगठनों का प्रमुखता से समर्थन मिल रहा है। भाजपा छोड़कर कई लोग समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से जनता दल (यूनाइटेड) के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश निरंजन भैयाजी, भारतीय बौद्ध महासभा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष तथा बाबासाहब भीमराव अंबेडकर के प्रपौत्र राजरत्न अशोक अंबेडकर, भारतीय जनता पार्टी के काशी प्रांत के प्रमुख नेता पदुम नारायण जायसवाल और उनके साथियों ने भेंट की थी, जिसमें समाजवादी पार्टी के लिए अपने समर्थन की घोषणा की। उन्होंने विश्वास दिलाया कि वे इन चुनावों में समाजवादी प्रत्याशियों की जीत के लिए जुटेंगे। इस अवसर पर राज्य के मंत्री राजेंद्र चौधरी, प्रदेश सपा अध्यक्ष नरेश उत्तम, एसआरएस यादव, विधायक मनबोध प्रसाद भी मौजूद थे।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]