स्वतंत्र आवाज़
word map

परम संत गुरु रविदास का विशाल जन्मोत्सव

दलित समाज की प्रगति के लिए एकजुटता का आह्वान

मल्हारगढ़ में संत जन्मोत्सव पर दलित धर्मसभा

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Monday 13 February 2017 04:16:48 AM

shiromani guru ravi dass great saint's birthday

मंदसौर। पिपलिया स्टेशन (मल्हारगढ़) में महान संत शिरोमणि गुरु रविदास का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री रहे एवं अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी ने मल्हारगढ़ संत शिरोमणि रविदास महाराज के जन्मोत्सव पर आयोजित धर्मसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि संत रविदास ने संपूर्ण मानवता के लिए कार्य किए, उनकी वाणी हमेशा ऊंच-नीच, छुआ-छूत से दूर थी। उन्होंने दलित समाज का आह्वान किया कि हम सभी को एकजुट होकर समाज के उत्थान के लिए कार्य करने होंगे। इस अवसर पर उन्होंने राजनीतिक बातें भी कीं और आरोप लगाया कि केंद्र और मध्य प्रदेश सरकार दलित समाज के साथ अन्याय कर रही है।
संत रविदास जन्मोत्सव कार्यक्रम में पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन भी मौजूद थीं। उन्होंने कहा कि हमारे देश में गौरवशाली संत परंपरा रही है, उसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए संत रविदास ने वर्ण व्यवस्था का विरोध किया और जीवनभर इस असमानता के खिलाफ लड़ाई लड़ी। उन्होंने कहा कि जब तक वर्ण व्यवस्था बनी रहेगी, तब-तक सामाजिक न्याय नहीं मिल सकता, देश के संविधान में सभी को बराबरी के अधिकार हैं, लेकिन सरकारें उनपर पूर्ण रूप से अमल नहीं कर रही हैं। जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष महेंद्र सिंह गुर्जर ने कहा कि समतामूलक समाज की जो परिकल्पना संत महापुरुषों ने की थी, वह संविधान ने हमें दी है, लेकिन शासन-प्रशासन के नमुाईंदे उसमें अड़ंगे डाल रहे हैं, सामाजिक, राजनीति और आर्थिक रूपसे हमें संपूर्ण समानता चाहिए। श्यामलाल जोकचंद्र ने कहा संत रविदास ने जाति-सम्प्रदाय को एक साथ आगे बढ़ने की प्रेरणा दी है, उन्होंने अन्य संतों की तरह ईश्वर प्राप्ति की कल्पना करने की बजाए देश में असमानता, शोषण और पाखंड के खिलाफ बिगुल बजाया, आज उनका सपना साकार होता नज़र आ रहा है।
जन्मोत्सव कार्यक्रम में प्रभुलाल चंदेल, मोहनलाल गुप्ता, तुलसीराम पाटीदार, परशुराम सिसौदिया, अशोक खिंची, रामेश्वर गौवरी, तरुण खिंची, रामप्रसाद राठौर, रामचंद्र करुण, लियाकत मेव, मदन चौहान, घनश्याम मेघवाल, मदन वर्मा, बाबू मंसूरी, मनोहर सोनी, मदनलाल वर्मा, संदीप सलोद आदि ने भी विचार रखे। कार्यक्रम में उमराव सिंह गुर्जर, हरगोविंद दिवान, राधेश्याम सूर्यवंशी, योगेश कछावा, सय्यद मंसूरी, रोड़मल रांगोठा, गोपाल जोकचंद्र, जुझारलाल राठौर, लक्ष्मीचंद सिंधम, अनिल पोरवाल, अजीत कुमठ, अशोक सोनी, रामनारायण सूर्यवंशी और बड़ी संख्या में दलित समाज के लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन हरिप्रसाद गहलोत ने किया। जन्मोत्सव समिति के अध्यक्ष विजेश मालेचा ने आभार प्रकट किया। जन्मोत्सव में भारी जनसमूह था। इस अवसर पर शोभायात्रा भी निकाली गई।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]