स्वतंत्र आवाज़
word map

भाजपा को बहुमत से जिताएं-नरेंद्र मोदी

'जिलों में चौधरी चरण सिंह किसान कल्याण कोष'

बिजनौर में हुई नरेंद्र मोदी की विशाल जनसभा

Saturday 11 February 2017 02:36:08 AM

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा

pm narendra modi in bijnor

बिजनौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिजनौर में विशाल विजय शंखनाद रैली को संबोधित किया और जनता से यूपी के विकास के लिए प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की अपील की। प्रधानमंत्री ने दलित समाज में अत्यंत प्रतिष्ठित और पूजनीय संत रविदास को उनकी जयंती पर श्रद्धापूर्वक नमन किया और किसानों के मसीहा और देश के प्रधानमंत्री रहे चौधरी चरण सिंह को याद करते हुए उनके नाम पर जिलों में किसान कोष की स्‍थापना कराए जाने घोषणा की। नरेंद्र मोदी ने कहा कि संत रविदास ने सबका साथ सबका विकास का रास्ता दिखाया था, उनका कहना था कि मन चंगा तो कठौती में गंगा। उन्होंने कहा कि आज केंद्र सरकार उन्हीं के दिखाए रास्ते पर चल रही है। नरेंद्र मोदी ने अखिलेश यादव को निशाना बनाया और उनके प्रति गहरी निराशा व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मुझे आशा थी कि अखिलेश यादव एक पढ़े-लिखे नौजवान हैं, सीखने की कोशिश कर रहे हैं, शायद पांच-दस साल में सीख जाएंगे, लेकिन उन्होंने कांग्रेस के एक ऐसे नेता को गले लगा लिया, जिनसे कांग्रेस के बड़े-बड़े लोग भी किनारा करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि महीनेभर पहले कांग्रेस वाले 27 साल, यूपी बेहाल का नारा लगाते थे, तू-तू मैं-मैं करते थे, लेकिन जब चारों ओर कमल दिखने लगा तो ये दोनों 'आ गले लग जा' हो गए।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्‍था पर अखिलेश यादव को लताड़ा। उन्होंने कानून व्यवस्‍था पर उदाहरण देते हुए अखिलेश यादव से कई सवाल किए। उन्होंने कहा कि सूरज ढलने के बाद यूपी में बहन-बेटी घर से नहीं निकल सकती। नरेंद्र मोदी ने कहा कि सपा के मुखिया तो यहां तक कहते हैं कि लड़कों से ग़लतियां हो जाती हैं, सजा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने आज़म खां का नाम लिए बिना कहा कि यूपी के एक भ्रष्टाचारी नेता को तो बुलंदशहर गैंगरेप पर शर्मनाक बयान देने पर सुप्रीम कोर्ट में कान पकड़कर माफी मांगनी पड़ी थी। उन्होंने कहा कि बुलंदशहर हाई-वे पर मां-बेटी के ऊपर ज़ुल्म चलता रहा, लेकिन सपा नेताओं को कोई चिंता नहीं थी, इसके विपरीत सपा के नेताओं ने इस घटना पर घृणित बयानबाज़ी की, मुख्यमंत्री ने भी मीडिया को कठघरे में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि क्या अखिलेश यादव क्राइम रिकार्ड को झुंठलाएंगे? उन्होंने कहा कि अखिलेश सरकार ने उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था को बदहाल करके रख दिया है। उन्होंनेराज्य की जनता से पूछा कि क्या अखिलेश सरकार, मां-बहनों, किसानों और नौजवानों का भला कर पा रही है, ऐसी सरकार को क्या उखाड़ फेंकना नहीं चाहिए?
नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक कुनबा ऐसा है, जिसने केवल और केवल एक गांव का ही भला किया, लेकिन उसमें भी केवल अपने ही कुनबे के लोगों का भला किया। उन्होंने कहा कि पूरे देश में सैफई एकमात्र ऐसा गांव है जहां से एक ही कुनबे के सांसद, विधायक, जिला पार्षद बने पड़े हैं। उन्होंने कहा कि नोएडा में एक इंजीनियर जो भ्रष्टाचार का एजेंट था, मायावती का निकट सहयोगी था, अखिलेश सरकार ने कहा था कि मायावती के कार्यकाल में जितने भ्रष्टाचारी हैं, उनको ठिकाने लगा देंगे पर अखिलेश ने उन्हें ठिकाने लगाने के बजाय अच्छे ठिकाने पर बैठा दिया। उन्होंने कहा कि हमने सीबीआई जांच बैठाई तो सपा सरकार इसके विरूद्ध सुप्रीम कोर्ट चली गई, लेकिन आज वे भ्रष्टाचारी हमारी ताकत के चलते जेल में सड़ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि एक कुनबा ऐसा भी है जो फ़ैक्टरी में आलू बनाने की सोच रहा है, उनकी बचकानी हरकतें ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहीं। सपा-कांग्रेस गठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि यह दो कुनबों का गठबंधन है, एक कुनबे ने 70 साल में देश को तबाह किया, दूसरा उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर रहा है, अगर उत्तर प्रदेश को बचाना है तो ये तबाही करने वाले कुनबों से बचना होगा। उन्होंने कहा कि जब ये दोनों कुनबे अलग थे तब तो देश और उत्तर प्रदेश का इतना नुकसान हुआ, अब ये दो कुनबे इकट्ठे हो जाएंगे तो क्या बचेगा? उन्होंने यूपी की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि इस कुनबे से पूरा उत्तर प्रदेश हिसाब मांगे कि पांच साल में उन्होंने प्रदेश के विकास के लिए आखिर किया क्या?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार जनता के लिये होती है, जनता की रक्षा के लिए होती है, युवाओं को रोज़गार देने के लिए होती है, लेकिन यूपी सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि सरकार गरीबों के लिए होती है, ईमानदारों के लिए होती है, लेकिन यूपी की सरकार सज्जनों की रक्षा करने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है, ये सरकार किसी का भला नहीं कर सकती। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब चौधरी चरण सिंह देश के प्रधानमंत्री बने थे, तब खाद के दाम कम हुए थे, उसके बाद पहली बार केंद्र में अब कोई ऐसी सरकार आई है, जिसने खाद के दाम कम किए हैं। उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह ने किसानों की भलाई का जो रास्ता दिखाया था, वह उसी राह पर चलने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के हर जिले में सरकार के खजाने से करोड़ों रुपये के बजट से चौधरी चरण सिंह किसान कल्याण कोष बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमने 25 लाख गन्ना किसानों को भुगतान के लिए 22 हजार करोड़ रुपया अपनी तिजोरी से दिया, 32 लाख किसानों के खाते में पैसा जमा कराया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लघु एवं सीमांत किसानों के ऋण माफ़ कर दिए जाएंगे।
नरेंद्र मोदी ने कहा कि राजस्थान में बीजेपी की सरकार है, वहां 53 फीसदी किसानों का फसल बीमा हुआ, महाराष्ट्र में भी करीब पचास फीसदी फसल बीमा हुआ, लेकिन यूपी में सिर्फ 14 फीसदी किसानों का ही फसल बीमा हुआ, यूपी सरकार ने सिर्फ 3% गेहूं खरीदा, जबकि हरियाणा जैसे छोटे राज्य ने 60% गेहूं खरीद लिया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से बहुत छोटा राज्य होने के बावजूद छत्तीसगढ़ यूपी की तुलना में 10 गुना ज्यादा चावल किसानों से खरीदती है। उन्होंने कहा कि सपा-कांग्रेस उत्तर प्रदेश का विकास नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ने विकास के लिए दिल्ली में एक इंजन लगा दिया है, दूसरा इंजन राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बना कर लगा दे, उत्तर प्रदेश देखते ही देखते विकास के पथ पर अग्रसर हो जाएगा।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]