स्वतंत्र आवाज़
word map

जिला जज तूफानी प्रसाद को परंपरागत विदाई

आसान नहीं होता है न्यायाधीश का कार्य-सिविल जज

तूफानी प्रसाद ने दिए अनेक ऐतिहासिक फैसले

स्वतंत्र आवाज़ डॉट कॉम

Tuesday 31 January 2017 11:29:34 PM

jila jaj toophaanee prasaad ko paramparaagat vidaee

उन्नाव। सिविल जज डॉ सुनील कुमार सिंह का कहना है कि न्यायाधीश का कार्य आसान नहीं होता, इसके बावजूद भी वह अपने न्यायिक कार्य को बेहतर उपलब्धि एवं संतुष्टि के साथ करते हैं, जो अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि है। डॉ सुनील कुमार सिंह, जिला जज उन्नाव तूफानी प्रसाद की विदाई पर दीवानी न्यायालय में आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जिला जज तूफानी प्रसाद ने समाज की भलाई के लिए भारतीय परम्पराओं एवं मूल्यों को देखते हुए अनेक परिवर्तन कर महत्वपूर्ण निर्णय दिए हैं, उन्होंने एक न्यायाधीश के रूप में व्यक्तिगत भाषण से अभिव्यक्ति के अधिकार एवं सीमाओं के बीच में एक बहुत अच्छा संतुलन स्थापित किया है। डॉ सुनील कुमार सिंह ने कहा कि अपने पूरे कार्यकाल में वह अनेक युवा वकीलों एवं वरिष्ठ अधिवक्ताओं के लिए प्रेरणा के स्त्रोत बने रहे।
सीजेएम अमित सिंह ने कहा कि केवल परिवर्तन ही जीवन में स्थिर है और जब यह दिशा विश्वास तथा दूसरों की भलाई की दृष्टि के साथ होता है, तब हमारे कार्य के उत्कृट मूल्यों को नए सिरे से परिभाषित किया जाता है, इस कारण हम सब उनके कृतृज्ञ हैं। स्पेशल जज गैंगस्टर एक्ट जयसिंह पुण्डीर ने कहा कि जनपद न्यायाधीश ने न्यायालय परिसर में जो भी पेड़-पौधे लगाए उससे एक स्वच्छ वातावरण पैदा हुआ, जिससे सभी लोगों में कार्य करने में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ। इस मौके पर एडीजे रिज़वान-उल हक, दिनेश कुमार सिंह एडीजे प्रथम, एडीजे जया पाठक और दूसरे न्यायिक अधिकारियों ने जिला जज तूफानी प्रसाद को परम्परागत पद्धति से धक्का मारकर गेट के बाहर किया।

हिन्दी या अंग्रेजी [भाषा बदलने के लिए प्रेस F12]